मानसून की विदाई से पूर्व ही ठंड ने दी दस्तक

इस बार मौसम का मिजाज सितंबर बदलने लगा

भोपाल, बिच्छू डॉट कॉम। मध्य प्रदेश से अब तक मानसून की विदाई नहीं हुई है। प्रदेश में अभी भी मानसून कुछ जिलों में हल्की बूंदाबांदी करा रहा है। प्रदेश से 22 सितंबर को मानसून की विदाई होनी थी। 22 सितंबर के बाद भी अब तक मानसून की विदाई नहीं हुई है। राज्य में तय समय से एक दिन पहले ही मानसून ने दस्तक दी थी। वहीं मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले 2 से 3 दिनों में मानसून प्रदेश से विदा हो सकता है। सितंबर के बाद अक्टूबर के महीने में मानसून की विदाई हो सकती है। प्रदेश में ठंड ने भी दस्तक दे दी है। मौसम विभाग के मुताबिक भोपाल से मानसून 5 अक्टूबर तक रवानगी ले सकता है तो वहीं बीते 48 घंटों में उज्जैन, ग्वालियर-चंबल संभाग से मानसून की विदाई शुरू हो जाएगी। इस बार राजधानी समेत प्रदेशभर में अच्छी बारिश हुई है। अगस्त महीने में तो करीब 19 जिलों में बारिश की वजह से बाढ़ आ गई थी।
सुबह से हल्की ठंडक मौसम में घुली: मध्य प्रदेश से अभी तक मानसून रवाना नहीं हुआ है और ठंड ने दस्तक दे दी है। भोपाल सहित मध्य प्रदेश में 33 दिन पहले ही ठंड ने अपनी आमद दर्ज करा दी है। सुबह से ही हल्की ठंडक मौसम में घुली हुई है. रात में भी तापमान में हल्की गिरावट होने लगी है। तापमान में हल्की गिरावट होने से लोगों को हल्की हल्की ठंड का अहसास हो रहा है।
33 दिन पहले मौसम में ठंडक की आमद: मौसम विभाग का कहना है कि अभी प्रदेश में नमी कम हो गई है। राजस्थान में एक प्रति चक्रवात बन गया है। हवा का रुख दक्षिण पश्चिमी से बदलकर उत्तर पश्चिमी हो गया है। उत्तरी हिस्से में वेस्टर्न डिस्टरबेंस का आना शुरू हो गया है। यही वजह है कि अब यह फैक्टर धीरे-धीरे प्रभावी होने लगे हैं। इनका ज्यादा असर नवंबर से ही होता है, लेकिन इस बार मौसम का मिजाज सितंबर बदलने लगा है। भोपाल में रात के समय हवा का रुख उत्तर-पश्चिमी होने के कारण तापमान में कमी होने लगी है. अभी धीरे-धीरे रात के तापमान में और ज्यादा गिरावट देखने को मिलेगी।

Related Articles