शॉर्ट वीडियो एप बोलो इंडिया ने लांच किया बोलो मीट्स, घर बेठे करें कमाई


नई दिल्ली, बिच्छू डॉट कॉम। शॉर्ट वीडियो कॉन्टेंट प्लेटफॉर्म बोलो इंडिया ने बोलो मीट्स को लॉन्च करने की घोषणा की है। इसकी शुरूआत इंडस्ट्री के सक्रिय क्रिएटर्स की अगुवाई में बड़े यूजर्स बेस को बोलो इंडिया के प्लेटफॉर्म पर पियर टु पियर कॉमर्स सर्विस क्षमता का लाभ उठाने के काबिल बनाने के लिए की गई। फिलहाल इस प्लेटफॉर्म के 65 लाख से ज्यादा यूजर्स हैं, जिसमें 28 लाख क्रिएटर्स शामिल हैं।
14 भाषाओं में बना सकते हैं शॉर्ट वीडियो
यह प्लेटफॉर्म 14 भाषाओं में सुविधाएं प्रदान करता है। अपनी इस अनोखी सर्विस के ऑफर के साथ बोलो इंडिया को उम्मीद है कि कंपनी के इस प्लेटफॉर्म पर क्रिएटर्स की संख्या मार्च 2021 तक 300 फीसदी बढ़ जाएगी।
कर सकते हैं अपने स्किल्स की मार्केटिंग
बोलो मीट्स के एक हिस्से के तौर पर क्रिएटर-पार्टनर्स को इस प्लेटफॉर्म पर एक एक्स्ट्रा फीचर मिलेगा, जिससे वह स्पेशल स्किल बेस्ड सर्विसेज को क्रिएट कर अपने फॉलोअर्स बेस तक उसकी मार्केटिंग कर सकते है। प्राइवेट वीडियो चैट रूम में आयोजित सेशन में किसी खास व्यक्ति से बातचीत जा सकती है। ज्यादा से ज्यादा 10 लोगों के लिए ग्रुप वीडियो सेशन का भी प्रबंध किया जा सकता है। अपने पसंदीदा क्रिएटर्स के सेशन में माइक्रो पेमेंट्स से जगह बुक कर के यूजर्स इस विडियो सेशन में शामिल हो सकते हैं।
इन कैटेगिरी के वीडियो में हो सकते हैं शामिल
बोलो मीट्स ऐप पर सबसे ज्यादा डिमांड में शामिल लोकप्रिय कैटेगरीज में ज्योतिष, फिटनेस, म्यूजिक, डांस, इंस्ट्रूमेंट्स, कॉमेडी, पर्सनल फाइनेंस, रिलेशनशिप और मेंटल वेलनेस शामिल हैं। अगर कोई व्यक्ति इस प्लेटफॉर्म पर कोई लैंग्वेज या डांस सीखना चाहता है तो उसे 5000 रुपए तक खर्च करने पड़ सकते हैं।
बोलो इंडिया के सीईओ और संस्थापक वरुण सक्सेना ने कहा, हम बोलो इंडिया प्लेटफॉर्म को यूजर्स के एक बड़े सेक्शन के लिए खोल रहे हैं तो इससे हम न केवल क्रिएटर्स और पार्टनर्स की आर्थिक स्वतंत्रता के सफर को रचनात्मक रूप से आगे बढ़ाएंगे, बल्कि दूर-दराज के क्षेत्रों में बैठे हर भारतीय को भी सशक्त बनाएंगे। इससे यूजर्स अपने क्षेत्र की संस्कृति, भाषा और उम्मीदों को जानने और समझने वाले क्रिएटर्स की सर्विसेज हासिल करने, उनसे सीखने और आगे बढऩे के काबिल हो पाएंगे। हमारा उद्देश्य देश के टैलेंटेड क्रिएटर्स के लिए अपनी इनकम बढ़ाने के नए नए रास्ते खोलना है। इसी के साथ हम उन्हें एक ऐसा प्लेटफॉर्म देना चाहते है, जहां वह अपने शौक को फॉलो कर अपनी जिंदगी में तरक्की कर सकें।

Related Articles