ईपीएफ खाताधारकों के लिए अच्छी खबर, अब उमंग एप पर शुरू हुई आवेदन करने की सुविधा

ईपीएफ खाताधारकों में यूनिफाइड मोबाइल एप्लिकेशन फॉर न्यू-एज गवर्नेंस (उमंग) को लेकर खासा उत्साह देखने को मिला


नई दिल्ली, बिच्छू डॉट कॉम। कोरोना के मुश्किल समय में ईपीएफ खाताधारकों के लिए उमंग एप बहुत मददगार साबित हुआ है। अब एक और सेवा इससे जोड़ा गया है। कोविड-19 महामारी के दौरान ईपीएफ खाताधारकों में यूनिफाइड मोबाइल एप्लिकेशन फॉर न्यू-एज गवर्नेंस (उमंग) को लेकर खासा उत्साह देखने को मिला, जिसने उन्हें इस मुश्किल दौर में घरों पर ही सहजता से सेवाओं का उपयोग करने में सक्षम बनाया। उमंग एप पर पहले से उपलब्ध 16 सेवाओं के अलावा, अब ईपीएमफओ ने एक अन्य सुविधा शुरू करके ईपीएस सदस्यों को कर्मचारी पेंशन योजना, 1995 के अंतर्गत योजना के प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करने में सक्षम बना दिया है। योजना का प्रमाण पत्र ऐसे सदस्यों को जारी किया जाता है, जो अपना ईपीएफ अंशदान निकाल लेते हैं लेकिन सेवानिवृत्ति की उम्र पर पेंशन लाभ लेने के लिए ईपीएफओ के साथ अपनी सदस्यता बरकरार रखना चाहते हैं। एक सदस्य सिर्फ तभी पेंशन के लिए पात्र होता है, जब वह कर्मचारी पेंशन योजना, 1995 का कम से कम 10 साल तक सदस्य रहता है। नई नौकरी से जुडऩे के बाद योजना प्रमाण पत्र सुनिश्चित करता है कि पिछली पेंशन योग्य सेवा को नए नियोक्ता के साथ प्रदान की गई पेंशन योग्य सेवा के साथ जोड़ दिया जाए, जिससे पेंशन लाभ बढ़ जाता है। इसके अलावा, पात्र सदस्य की मृत्यु की स्थिति में परिवार के सदस्यों के लिए परिवार पेंशन हासिल करने में भी योजना प्रमाण पत्र उपयोगी है।
उमंग एप के माध्यम से योजना प्रमाण पत्र के लिए आवेदन आसान होने से सदस्यों को अब भौतिक रूप से आवेदन करने की अनावश्यक दिक्कतों से मुक्ति मिलेगी। विशेष रूप से इससे महामारी के दौरान फायदा होगा और अनावश्यक कागजी कार्यवाही से भी मुक्ति मिलेगी। इस सुविधा से 5.89 करोड़ से ज्यादा सदस्यों को फायदा होगा। उमंंग एप पर सेवाएं हासिल करने के लिए एक सक्रिय यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) और ईपीएफओ के साथ पंजीकृत मोबाइल नंबर होना आवश्यक है।
अपने सदस्यों के घर तक इस अनूठी तकनीक को सफलतापूर्वक पहुंचाकर, ईपीएफओ उमंग ऐप पर सबसे लोकप्रिय सेवा प्रदाता बनी हुई है। अगस्त, 2019 के बाद ऐप को मिले 47.3 करोड़ हिट्स में 41.6 करोड़ यानी 88 प्रतिशत ईपीएफओ सेवाओं के लिए थे। मोबाइल फोन के माध्यम से भारत में डिजिटल कनेक्टिविटी में भारी बढ़ोतरी के साथ ईपीएफओ उमंग ऐप के माध्यम से दूरदराज के स्थानों में भी अपने सदस्यों को ज्यादा से ज्यादा डिजिटल सेवाएं उपलब्ध करा रहा है।
भारत में मोबाइल गवर्नेंस को गति देने के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय तथा नेशनल ई-गवर्नेंस डिविजन (एनईजीडी) ने उमंग (यूनिफाइड मोबाइल एप्लिकेशन फॉर न्यू-एज गवर्नेंस) का विकास किया है। उमंग केन्द्र से लेकर स्थानीय सरकारी संगठनों से संबंधित ई-गवर्नेंस सेवाओं और अन्य नागरिक केन्द्रित सेवाओं के लिए सभी भारतीय नागरिकों को अखिल भारतीय स्तर पर एक एकल प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराता है।

Related Articles