जालंधर में कोरोना हुआ बेकाबू, 85 नए रोगी मिले, एक की मौत


अधिकारियों की लापरवाही उजागर
जालंधर, बिच्छू डॉट कॉम।
जिले में कोरोना वायरस ने जिस गति से रफ्तार पकड़ी है, उसे देखकर स्पष्ट हो रहा है कि अगर लोग अभी भी न संभले तो हालात और तेजी से बिगड़ जाएंगे। गुरुवार सुबह जिले में कोरोना के 85 नए रोगी मिले तथा एक की मौत हो गई।
इस तरह कैसे खत्म होगा कोरोना
तीन दिन में भी कोरोना पॉजिटिव रोगियों को घर में शिफ्ट नहीं कर पाया स्वास्थय विभाग कोरोना से निपटने के लिए वैसे तो हर देश व राज्य की सरकार अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रही है लेकिन कुछ विभागों एवं अधिकारियों की लापरवाही शायद इसे कभी खत्म नहीं होने देगी। इस बात का सबसे बड़ा सबूत यह है कि जालंधर का स्वास्थ्य विभाग तीन दिन में भी कोरोना पॉजिटिव रोगियों को घर से किसी भी स्वास्थ्य केंद्र में शिफ्ट नहीं कर पाया। जानकारी के अनुसार जिले में अभी भी कोरोना पॉजिटिव 388 रोगियों को स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने घरों में स्वास्थ्य केंद्रों में शिफ्ट करना है। हैरानी की बात यह है कि इन 388 पॉजिटिव रोगियों में से ऐसे भी है जिनकी रिपोर्ट सोमवार को पॉजिटिव आई थी और वह 3 दिन से ऐसे ही अपने घरों में तथा इधर-उधर घूम रहे है और उन्हें कोई पूछने वाला नहीं।

Related Articles