प्रदेश में नहीं लगेगा लॉकडाउड, ज्यादा मामले वाले क्षेत्रों में लगाया जाएगा नाइट कफ्र्यू

भोपाल, बिच्छू डॉट कॉम।

राजधानी सहित प्रदेश के बड़े शहरों में अचानक कोरोना मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। इसके बाद प्रशासन ने नाइट कफ्र्यू लगाने की बात कही थी। इसके बाद प्रदेश में लॉकडाउन लगाए जाने पर चर्चा की जाने लगी थी। गुरुवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक में उन्होंने साफ कर दिया है कि प्रदेश में लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा। हालांकि उन्होंने कहा कि जिन शहरों में मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी देखने को मिली है वहीं नाइट कफ्र्यू लगाया जाएगा। बता दें कि हाल ही में कोरोना की मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी देखने को मिली थी। हाल ही में इंदौर में एक दिन में 313 से अधिक मामले सामने आए थे। गुरुवार को भी राजधानी में कोरोना के 425 मामले सामने आने और इंदौर में 313 मामलों के साथ कोरोना की तीसरी लहर आने के बाद मुख्यमंत्री ने कोरोना पर बैठक बुलाई थी। जिन शहरों में कोरोना की 5प्रतिशत से ज्यादा पॉजिटिविटी रेट है, वहां रात 10 से सुबह 6 बजे तक का कर्फ्यू रहेगा। 5त्न पॉजिटिविटी रेट यानी कोरोना के हर 100 टेस्ट में 5 टेस्ट पॉजिटिव पाए जाएं। वहीं यह भी फैसला लिया गया कि राज्य में स्कूल-कॉलेज अभी बंद ही रहेंगे। थिएटरों के लिए पहले की गाइडलाइन जारी रहेगी। यानी 50त्न सिटिंग कैपेसिटी की ही इजाजत होगी। मंत्रालय में जब मुख्यमंत्री बैठक कर रहे थे, तभी उनका एक पुराना वीडियो वायरल हुआ। इसमें वे दो शहरों में लॉकडाउन की बात कर रहे हैं। ये वीडियो छह महीने पुराना है। वीडियो सामने आने के बाद यह माने जाने लगा कि सीएम ने लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। बाद में सरकार ने स्थिति साफ की कि यह घोषणा पुरानी थी। सरकार कई दिनों से स्कूल-कॉलेज के बारे में सोच रही थी। स्कूल शिक्षा विभाग ने एक प्रस्ताव भी भेजा था। इसमें कहा गया था कि 20 नवंबर के बाद स्कूल खोले जा सकते हैं, लेकिन मुख्यमंत्री ने अब साफ कर दिया है कि इन्हें अभी बंद ही रखा जाएगा। दरअसल, हरियाणा में स्कूल खोले जा चुके हैं और कई जिलों में अब तक 119 बच्चे संक्रमित हो चुके हैं।

Related Articles