भोपाल में मार्च अंत तक पड़ सकती है कड़ाके की ठंड

भोपाल, बिच्छू डॉट कॉम। भोपाल समेत आसपास के इलाकों में इस बार मौसम के तेवर कुछ ज्यादा ही ठंडे बने रह सकते हैं। मौसम विशेषज्ञों की मानें तो इस बार मार्च अंत तक कड़ाके की ठंड पडऩे की संभावना है। तीन विदेशी संस्थानों एवं एक यूनिवर्सिटी द्वारा की गई स्टडी में भी यह तथ्य सामने आए हैं। इसमें जिक्र है कि पूर्वी प्रशांत महासागर में समुद्र सतह का तापमान कम है। यह ला नीना फैक्टर है। इसके प्रभावी होने से कड़ाके की ठंड का दौर इस बार लंबा खिंचेगा। अल नीना का मतलब प्रशांत महासागर यानी समुद्र सतह के तापमान से है। एक्सपर्ट कहते हैं ला नीना के आधार पर ही सर्दी का आकलन किया गया है। इसका असर उत्तरी गोलार्ध यानी भूमध्य रेखा के ऊपर के क्षेत्र में होता है। इसमें भारत सहित एशिया के ज्यादातर देश आते हैं। इससे भारत के कोल्ड कोर जोन में तेज ठंड पड़ेगी। इसी कारण इस बार नवंबर की शुरुआत से ही रिकॉर्ड ठंड पडऩे लगी थी।

Related Articles