कोरोना से अब कहेंगे डरो-ना, सितंबर से खुलेंगे स्कूल

कोरोना से अब कहेंगे डरो-ना, सितंबर से खुलेंगे स्कूल

भोपाल, बिच्छू ब्यूरो। आखिर कब तक कोरोना से डरेंगे…यह सोचकर राज्य सरकार अब सितंबर से स्कूल खोलने की तैयारी कर रही है। स्कूलों को खोलने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने गाइड लाइन का प्रस्ताव तैयार कर राज्य सरकार को परमिशन के लिए भेज दिया है। उल्लेखनीय है कि कोरोना संकट की वजह से इस सत्र में अब तक स्कूल नहीं खोले जा सके हैं और पिछले तीन महीने से बच्चों को ऑन लाइन कक्षाएं लगाकर पढ़ाई कराई जा रही है।
स्कूल शिक्षा विभाग के सूत्रों के मुताबिक कोरोना को डरो-ना कहकर सभी स्कूलों को खोलने के लिए जो गाइड लाइन तैयार की गई है, उसके अनुसार स्कूलों को छह चरणों में ओपन किया जाएगा। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए स्कूलों में प्रार्थना सभाओं और वार्षिकोत्सव पर कोरोना संकट तक परहेज किया जाएगा। इसके अलावा गाइड लाइन में स्कूल खुलने पर पढ़ाई का क्रम किस तरह से शुरू किया जाएगा और बच्चों, अभिभावकों एवं शिक्षकों को किन-किन बातों को ध्यान देना होगा, यह भी सुनिश्चित किया गया है। बच्चों को स्कूल सम-विषम क्रम में एक दिन छोड़कर बुलाया जाएगा।

गाइड पालन का रखा जाएगा ध्यान

स्कूल विभाग ने जो गाइड लाइन तय की उसके अनुसार बच्चों को स्कूल सम-विषम आधार पर स्कूल बुलाया जाएगा। कक्षाओं में बच्चों को एक-दूसरे से 6 फीट की दूरी रखना जरूरी होगा। इसके साथ एक कमरे में 15 बच्चों को बिठाए जाने की अनुमति होगी। बच्चों के लिए कक्षा में बैठने के लिए सीट निर्धारित रहेगी। इसके लिए डेस्क पर नाम लिखा जाएगा। कक्षाएं रोजाना सैनिटाइज की जाएंगी। स्कूल में प्रवेश से पहले बच्चों और शिक्षकों स्क्रीनिंग की जाएगी। हरेक बच्चे और शिक्षक मास्क पहनना जरूरी होगा। वे एक-दूसरे से कॉपी, पेन, पेंसिल या खाना शेयर नहीं कर सकेंगे।

किस तरह से खुलेंगे स्कूल

  • पहले चरण में 11वीं और 12वीं की कक्षाएं शुरू होंगी।
  • एक हफ्ते बाद 9वीं और 10 वीं की पढ़ाई शुरू होंगी।
  • तीसरे चरण में 6वीं से लेकर 8वीं तक की कक्षाएं शुरू होंगी।
  • इसके तीन हफ्ते बाद कक्षा 3 से लेकर 5वीं कक्षाएं शुरू होंगी।
  • पांचवें चरण में पहली और दूसरी की कक्षाएं शुरू होंगी।
  • छठे चरण में यानी पांच हफ्ते बाद नर्सरी एवं केजी की कक्षाएं शुरू की जाएंगी।

Related Articles