टीम तांडव पर केस दर्ज कराएगी मध्य प्रदेश सरकार

भोपाल, बिच्छू डॉट कॉम। उत्तर प्रदेश के बाद अब मध्य प्रदेश में भी वेब सीरीज तांडव को लेकर सरकार सख्त हो गई है। गृह मंत्री डा.नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि वेब सीरीज तांडव के निर्देशक से लेकर कलाकरों के खिलाफ मध्य प्रदेश सरकार पुलिस में एफआईआर दर्ज कराएगी। उन्होंने आरोप लगाया कि इस फिल्म में हिंदू धर्म की भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने की कोशिश की गई है। इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 18 जनवरी को दिल्ली में सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकात कर तांडव वेब सीरीज पर बैन लगाने की अपील की है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा, ओटीटी प्लेटफॉम्र्स पर भी सेंसरशिप की जाए। गृह मंत्री ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि जब कोई विषय हिंदू धर्म के खिलाफ होता है, उस पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जैसे लोग तांडव करते हैं। मेरा सवाल उनसे है कि आज तक जितनी भी फिल्में बनी है, उसमें हिंदू धर्म के अलावा किसी अन्य धर्म पर टिप्पणी कर पाए? आखिर क्यों हर बार हिंदू धर्म निशाने पर आता है। इस पर कोई तांडव करता है और हम विरोध करते हैं तो उन्हें बुरा क्यों लगता है। इस पर उन्हें जवाब देना चाहिए।
डा. मिश्रा ने कहा कि तुष्टिकरण की राजनीति में यह ठीक नहीं है। जिस तरह से सैफ अली खान, जीशान, अयूब, अब्बास जफर ने फिल्म में हिंदू धर्म की भावनाओं पर टिप्पणी की है, इसकी निंदा करता हूं। इसको लेकर मध्य प्रदेश सरकार भी केस रजिस्टर्ड करेगी। उन्होंने कहा कि लोगों की धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाली वेब सीरीज को नियंत्रित करने के लिए एक नीति बनाने की आवश्यकता है। इसके लिए केंद्र सरकार से अनुरोध करेंगे।
क्यों हो रहा है विरोध
दरअसल, सीरीज के पहले एपिसोड में दिखाया गया है कि एक्टर जीशान अयूब यूनिवर्सिटी के फंक्शन में भगवान शिव के वेश में दिखाई दे रहे हैं। तांडव के इस सीन लेकर लोगों ने सोशल मीडिया के जरिए आपत्ति जताई है। इस वजह से सैफ अली खान अभिनीत पॉलिटिकल ड्रामा सीरीज तांडव अमेजन प्राइम पर रिलीज होने के साथ ही विवादों में घिर गई है। सोशल मीडिया पर बायकाट तांडव भी ट्रेंड कर रहा है।

Related Articles