यात्री बसों की टैक्स माफी पर फैसला कल

भोपाल, बिच्छू डॉट कॉम। प्रदेश के सभी जिलों में यात्री बसों के संचालन के लिए जल्द बस संचालक फैसला ले सकते हैं। कल मंगलवार को होने वाली मंत्रिमंडल की बैठक में यात्री बसों की नब्बे करोड़ की टैक्स माफी के संबंध में भी फैसला लिया जा सकता है। बस संचालक तीन माह (अप्रैल, मई व जून) का टैक्स माफ करने की मांग कर रहे हैं। डीजल का रेट बढऩे के कारण किराया बढ़ाने के बारे में सरकार विचार कर रही है, लेकिन आी तक निर्णय नहीं हुआ। हालांकि राज्य सरकार ज्यादा किराया बढ़ाने के पक्ष में नहीं है। उधर टैक्स माफी पर अड़े बस संचालक 7 जुलाई को इंदौर में जुटेंगे। बैठक में बसों का संचालन शुरू करने पर निर्णय हो सकता है। साथ ही टैक्स माफी, डीजल के दाम बढऩे से 60 फीसदी किराया बढ़ोतरी, चालक-परिचालक, हेल्परों को कोरोना योद्धा मानकर सरकार से बीमा कराने की मांग को लेकर आगे की रणनीति बनाई जाएगी। मप्र प्राइम रूट एसोसिएशन के अध्यक्ष गोविंद शर्मा ने बताया कि पहले सोमवार को भोपाल में प्रदेश के बस संचालकों की बैठक रखने पर सहमति बनी थी। मंगलवार दोपहर 2 बजे इंदौर में खंडवा रोड पर एक रेस्टोरेंट में बैठक रखी है। हमारी शासन से यही मांग है कि टैस माफ किया जाए। सबसे पहले तीन महीने (अप्रैल, मई, जून) का टैक्स माफ किया जाए। इसके बाद जुलाई, अगस्त, सितंबर का भी टैक्स माफ हो, क्योंकि बसों का संचालन शुरू करने पर ज्यादा सवारी नहीं मिलेंगी। जिससे बस संचालकों का घाटा होना तय है। डीजल बढ़ा है तो किराए में भी बढ़ोतरी की जाए। शुक्रवार को गृह विभाग ने प्रदेश के जिलों में बस संचालन का आदेश जारी किया था। टैक्स माफी, किराया बढ़ोतरी सहित अन्य मांगों पर अड़े बस संचालकों ने शनिवार से बसों का संचालन नहीं किया। भोपाल सहित पूरे प्रदेश में बसों के पहिए थमे रहे। भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड (बीसीएलएल) सहित निजी बस संचालकों की भी बसें नहीं चलीं।

Related Articles