इंदौर के खजराना गणेश को अर्पित की अष्टधातु की राखी

Ashtadhatu's Rakhi offered to Khajrana Ganesh of Indore

इंदौर, बिच्छू डॉट कॉम। रक्षा बंधन अवसर पर इंदौर के प्रसिद्ध खजराना गणेश को अष्टधातु की राखी अर्पित की गई। हालांकि कोरोना के चलते बंद मंदिरों में अपने आराध्य को राखी अर्पित करने के लिए भक्तों को प्रवेश अनुमति नहीं है। भगवान गणेश को अष्टधातु से निर्मित भगवान सूर्यनारायण की राखी अर्पित की गई। 40 इंच की इस राखी को पालरेचा बंधु द्वारा 12 लोगों के सहयोग से दो महीने में तैयार किया गया है। राखी को 10 से 12 लोगों ने आकार दिया है। राखी निर्माता पुंडरीक और शांतु पालरेचा ने बताया कि राखी में भगवान सूर्य नारायण को 12 ज्योर्तिलिंगों के साथ दर्शाया गया है। राखी में सोना, चांदी, तांबा, पीतल, जस्ता के साथ नगीने भी लगाए गए हैं।
उज्जैन में महाकाल को बंधी राखी
विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर ज्योर्तिलिंग मंदिर में श्रावण पूर्णिमा को रक्षा बंधन पर भस्मारती के बाद सबसे पहले राखी बांधी गई। इसके साथ पुजारियों ने बाबा महाकाल को 11 हजार लड्डुओं का भोग लगाया। परंपरा के अनुसार उज्जैन में सभी त्योहार सबसे पहले महाकाल मंदिर में मनाए जाते हैं। बाबा महाकाल की श्रावण मास के अंतिम सोमवार को आज शाम सवारी निकाली जाएगी। सके बाद 10 अगस्त को भादौ मास की पहली तथा 17 अगस्त को श्रावण-भादौ मास की शाही सवारी निकाली जाएगी। भगवान आज भक्तों को मनमहेश और चंद्रमौलेश्वर के रूप में दर्शन देंगे।

Related Articles