भोपाल में 148 नए कोरोना पॉजिटिव मिले

148 new corona positives found in Bhopal

भोपाल, बिच्छू डॉट कॉम। भोपाल में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। अब कोरोना संक्रमण ऐसे लोगों को भी हो रहा जो लॉकडाउन के दौरान घर से बाहर ही नहीं निकले हैं। वहीं कुछ पुलिसकर्मी भी संक्रमित हो रहे हैं। भोपाल में रविवार को 148 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इसमें बीजेपी प्रदेश कार्यालय में रहने वाले 23 साल के एक युवा की कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। सबसे ज्यादा 33 संक्रमित गोविंदपुरा क्षेत्र में मिले हैं। पुलिस कंट्रोल रूम से एक जवान कोरोना पॉजिटिव निकला है। कोतवाली परिसर से एक व्यक्ति और पुलिस लाइंस नेहरू नगर से एक जवान कोरोना पॉजिटिव आया है। गोविंदपुरा पुलिस लाइंन से एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित निकला है। 23 वीं बटालियन भदभदा रोड से एक जवान और 13वीं बटालियन गोविंदपुरा थाना प्रोफेसर कॉलोनी से दो लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। रेलवे कॉलोनी हबीबगंज से दो लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। तिलक चौक बैरसिया से तीन लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। 246 राम मंदिर से एक महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।
छह की मौत, 40 हुए स्वस्थ
भोपाल में कोरोना से होने वाली मौत का आंकडा दिनों दिन बढ़ते जा रहा है। पिछले 24 घंटे के अंदर कोरोना संक्रमित छह मरीजों की मौत हो गई है। इसे मिलाकर शहर में अब तक कोरोना संक्रमण से 186 मरीजों की मौत हो चुकी है। इधर, शहर में 40 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए है। इसे मिलाकर शहर में अब तक 3968 संक्रमित मरीजों ने कोरोना से जंग जीत ली है।
जुलाई में बढ़ा मौत का ग्राफ
भोपाल में कोरोना संक्रमण ने जुलाई में मौत का तांडव किया। 23 मार्च से 30 जून तक शहर में महज 101 मौत ही कोरोना से हुई थी, जो कि कुल संक्रमित मरीजों का महज एक प्रतिशत ही थी, लेकिन जुलाई में मौत का ग्राफ तेजी से बढ़ा, खासतौर पर 20 जुलाई के बाद। अकेले जुलाई में कोरोना संक्रमण से 80 लोगों की मौत हो चुकी है। हर दिन करीब तीन से चार कोरोना संक्रमित मरीज की मौत भोपाल में हो रही है। हैरत तो यह है कि कोरोना विस्फोट के कारण शहर में एक महीने में कुल 2006 संक्रमित मरीज मिले थे। जुलाई में कुल संक्रमित मरीजों के तीन प्रतिशत की मौत इस महीने में हुई है। एक्टिव मरीज की संख्या के मामले में भी तेजी से इजाफा हुआ है। एक जुलाई को शहर में महज 455 एक्टिव मरीज थे, जबकि इंदौर में 950 एक्टिव मरीज थे। यह संख्या एक अगस्त की स्थिति में भोपाल में 2177 तो इंदौर में 2060 हो गई। यानी एक महीने में एक्टिव मरीज के मामले में 22 प्रतिशत का इजाफा राजधानी में हुआ है।
ग्वालियर में मिले 93 कोरोना पॉजिटिव
शहर में कोरोना मरीजों का आंकड़ा रविवार को 2500 पार हो गया है। जिले में रविवार को भी 93 संक्रमित मरीज मिले हैं। इसमें जेएएच के पीडियाट्रिक्स विभाग के 4 जूनियर डॉक्टरों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद एसएनसीयू को बंद कर दिया गया है। अब सैनिटाइजेशन के बाद ही इसे शुरू किया जाएगा। गंभीर मरीजों को यहां से दूसरे वार्डों में शिफ्ट किया जा रहा है। वहीं पॉजिटिव पाए गए मरीजों में सीआरपीएफ, बीएसएफ, होमगार्ड, पुलिस के जवान एवं बैंक के अधिकारी भी शामिल हैं। जेएएच में लगातार डॉक्टर कोरोना संक्रमण का शिकार हो रहे हैं। केआरएच के पीडियाट्रिक्स विभाग में दो दिन पहले एक नर्स पॉजिटिव मिली थी। इसके बाद सैनिटाइजेशन का कार्य पूरा भी नहीं हुआ था कि रविवार को 4 जूनियर डॉक्टर संक्रमित निकले हैं। इसमें तीन जूनियर डॉक्टरों की ड्यूटी एसएनसीयू में ही थी। इसलिए अब एसएनसीयू को आगामी आदेश तक बंद करने का निर्णय लिया गया है। यहां पर सैनिटाइजेशन के बाद ही इसे शुरू किया जाएगा। वार्ड में भर्ती गंभीर बच्चों को दूसरे वार्डों में शिफ्ट करने की तैयारी शुरू हो चुकी है। जिससे इलाज में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आए। हालांकि एसएनसीयू के बंद होने से दिक्कतें बढऩा तय है। क्योंकि यहां केवल ग्वालियर ही नहीं बल्कि पूरे अंचल से मरीज पहुंचते हैं।

Related Articles