86 साल का इंतजार खत्म, पीएम मोदी ने कोसी रेल मेगा ब्रिज का किया शुभारंभ


नई दिल्ली, बिच्छू डॉट कॉम।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोसी रेल मेगा ब्रिज का शुभारंभ किया। इसी के साथ कोसी के लोगों का 86 साल का सपना पूरा हो गया। कोसी नदी के कारण दो हिस्सों में बंटा क्षेत्र एक बार फिर रेल मार्ग से जुड़ गया। आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रधानमंत्री पिछले कुछ दिनों से इस राज्य को कई सौगातें दे रहे हैं। इसी कड़ी में आज बिहार को 5 नई ट्रेनों का तोहफा मिला। पीएम मोदी ने 12 रेल परियोजनाओं का शुभारंभ भी किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि शुक्रवार को बिहार में रेल कनेक्टिविटी के क्षेत्र में नया इतिहास रचा गया है। 12 अन्य प्रोजेक्ट्स का भी लोकार्पण किया। 3000 करोड़ के इन प्रोजेक्ट्स के लिए सभी को बधाई। इस कोसी रेल मेगा ब्रिज से समय और पैसे की बचत होगी। इससे रोजगार के अवसर उत्पन्न होंगे। इससे उत्तर बिहार में विकास के कार्य को रफ्तार मिलेगी। उन्होंने कहा कि आठ दशक पहले भूकंप की आपदा ने कोसी व मिथिला को अलग-थलग कर दिया था। आज कोरोना काल में दोनों इलाकों को जोड़ा गया। अब लोगों को 300 किलोमीटर की यात्रा नहीं करनी पड़ेगी। आठ घंटे की यात्रा आधे घंटे में सिमट जाएगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, जब मैं रेल मंत्री था तब कोसी महासेतु का शिलान्यास हुआ था। प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने शिलान्यास किया था। सुगौली और हाजीपुर को जोडऩे की परियोजना का भी शिलान्यास अटलजी ने किया था। अटल जी का सपना साकार हो रहा है। रेल मंत्रालय द्वारा किए जा रहे कार्यों के लिए दिल से बधाई। उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि बिहार ने देश को आठ रेल मंत्री दिए। नीतीश कुमार ने रेल मंत्री रहते हुए तीन मेगा पुल दिए। आज कोसी नदी पर रेल पुल का शुभारंभ हो रहा है। रेल के विकास से बिहार में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। बिहार में रेल परियोजनाओं का प्रगति की झलकियां दिखाई गई। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि पीएम मोदी बिहार के चौमुखी विकास के लिए चिंतित रहते हैं। केंद्र व राज्य डबल इंजन लगाकर विकास कर रहे हैं। आज कोसी और मिथिलांचल रेल मार्ग से जुड़कर एक हो जाएंगे। केंद्रीय गृहराज्यमंत्री नित्यानंद राय ने स्वागत भाषण दिया।

Related Articles