10वीं के छात्र ने खुद को गोली मार ली, आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं

आत्महत्या के पहले इंस्टाग्राम पर किया पोस्ट, जिस इंसान को हद से ज्यादा दर्द मिलता है, वह रोता नहीं सीधे खामोश हो जाता है

भोपाल, बिच्छू डॉट कॉम। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में एक 10वीं के छात्र ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या के कारण का खुलासा नहीं हो सकता है। पूछताछ के दौरान बस यह बात सामने आई है कि घर देरी से आने और पढ़ाई नहीं करने के कारण कभी कभी परिजन उसे डांट देते थे एवं 8-10 दिन पूर्व छात्र का अन्य स्कूली छात्रों के साथ झगड़ा हुआ था। वहीं आत्महत्या से पहले छात्र ने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट डाली थी, जिस पर लिखा था ‘जिस इंसान को हद से ज्यादा दर्द मिलता है, वह रोता नहीं सीधे खामोश हो जाता है।’

पुलिस मिली जानकारी के अनुसार टीला जमालपुरा इलाके में 10वीं के छात्र ने पिता की लाइसेंसी रायफल से खुद को गोली मार ली। खुदकुशी के पहले उसने अपने इंस्टाग्राम पर लिखा- जिस इंसान को हद से ज्यादा दर्द मिलता है, वह रोता नहीं सीधे खामोश हो जाता है। मामले की छानबीन कर रहे एएसपी जोन-3 भोपाल रामस्नेही मिश्रा ने बताया कि बीडीए कॉलोनी, टीलाजमालपुरा निवासी अमीन खान का वॉटर सप्लाई का कारोबार है। उनके 16 साल के बेटे मोहम्मद अमान दसवीं कक्षा पास की थी। शुक्रवार की सुबह करीब पौने आठ बजे घर गोली चलने की आवाज पर सब दौड़े। परिजन पहली मंजिल से दूसरी मंजिल की ओर जाने वाले जीनों पर अमान खून से लथपथ मिला। परिजन उसे तत्काल अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उसने दाहिने आंख के पास कनपटी पर 22 बोर की रायफल से गोली मारी थी।

रात 12 बजे के बाद आया था घर, 3 बजे किया था इंस्टाग्राम पोस्ट
एएसपी रामस्नेही मिश्रा ने बताया कि घटना स्थल का मुआयना किया है। अब तक की जांच में कुछ संदिग्ध नजर नहीं आया है। हालांकि पोस्टमार्टम और एफएसएल की रिपोर्ट के बाद सभी तथ्य सामने आ जाएंगे। परिजनों ने ही बताया है कि वह गुरुवार रात करीब 12 से 1 बजे के बीच घर आया था। उसने खाना खाया और कमरे में सोने चला गया। उसके मोबाइल फोन पर इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट शुक्रवार सुबह 3 से 4 बजे के बीच का है। इसमें उसने मायूसी जैसे शब्दों का उपयोग किया है। मोबाइल फोन भी जब्त किया है।

8-10 दिन पहले स्कूली छात्रों से हुआ था झगड़ा
प्रारंभिक जांच में सामने आया कि अमान का आठ-दस दिन पूर्व में शाहजहांनाबाद इलाके में विवाद हुआ था। इससे पूर्व भी बाबेअली मैदान में ले जाकर कुछ युवकों ने उसके साथ मारपीट कर घायल कर दिया था। हमला करने वाले लड़के भी स्कूली छात्र बताए जाते हैं। उसके देर रात घर आने पर भी माता-पिता उससे देर रात तक बाहर घूमने को लेकर सवाल करते थे। उसकी पढ़ाई पर भी उन्होंने काफी खर्च किया था, लेकिन उसका मन पढ़ाई में नहीं लगता था।

Related Articles