क्रीज खुरचने वाले स्मिथ बोले……कोई नयी बात नहीं ये तो मैं हमेशा करता हूं…!

Smith, who scraps the crease, says …… I am always doing something new…!

सिडनी/बिच्छू डॉट कॉम। तीसरे टेस्ट में सिडनी में टीम इंडिया के बल्लेबाजों के पग मार्क मिटाने को लेकर विवादों में घिरे ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने कहा है…… यह आरोप हैरान करने वाला है… मैं तो सालों से यह करता आ रहा हूं…. लेकिन आज तक किसी ने ऐसे आरोप नहीं लगाएं। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान को ड्रिंक्स ब्रेक के दौरान स्टंप कैमरे पर बूट से क्रीज को खुरचते हुए देखा गया था. हालांकि स्टीव स्मिथ ने जानबूझकर भारतीय बल्लेबाजों के बनाए बैटिंग गार्ड के निशान को मिटाने के आरोपों से इनकार किया है। उन्होंने न्यूज कॉर्प से बातचीत में कहा है, मैं यह देखने की कोशिश कर रहा था कि हम कहां गेंदबाजी कर रहे थे. मैं यह देखने की कोशिश कर रहा था कि भारतीय बल्लेबाज किस तरह से हमारे गेंदबाजों का सामना कर रहे हैं और आदत के मुताबिक ही मैंने सेंटर को मार्क किया था। स्मिथ ने साथ ही भारतीय बल्लेबाजों की प्रशंसा करते हुए कहा, सिडनी टेस्ट के अंतिम दिन भारतीय बल्लेबाजों ने क्या शानदार प्रदर्शन किया लेकिन दूसरी घटनाओं की चर्चा ज्यादा हो रही है और यह निराशाजनक है। इससे पहले ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने स्टीव स्मिथ का बचाव करते हुए कहा था कि स्मिथ भारतीय बल्लेबाजों के गॉर्ड के निशान को नहीं बदल रहे थे. हालांकि इन आरोपों के चलते स्मिथ की सोशल मीडिया पर काफी आलोचना हो रही है। पेन ने कहा, मैं कल्पना कर सकता हूं कि अगर वे ऐसा कर रहे होते तो भारतीय खिलाड़ी उसे जरूर मुद्दा बनाते. जहां तक हमलोग जानते हैं कि स्मिथ ऐसा करते रहते हैं, वे क्रीज पर जाकर कल्पना करते हैं कि बल्लेबाजी कैसे की जाए और इस दौरान में वे हमेशा सेंटर को गॉर्ड भी करते हैं। सिडनी टेस्ट के अंतिम दिन ऋषभ पंत की बल्लेबाजी के दौरान ड्रिंक्स ब्रेक में स्मिथ काल्पनिक ढंग से बल्लेबाजी करते दिखे. इस दौरान ऋषभ पंत के गार्ड के निशान मिट गए थे जिसके चलते क्रीज पर लौटने के बाद पंत ने अंपायर से दोबारा गार्ड लिया।

पंत जब ब्रेक पर गए थे तब 97 रन पर खेल रहे थे. जब वे पिच पर लौट कर आए, दोबारा अंपायर से गार्ड माँगनी पड़ी और पंत इसी स्कोर पर आउट हो गए। पेन ने कहा, ऐसा में वे हर मैच में करते हैं. एक दिन के खेल में पाँच से छह बार करते हैं. उन्हें काल्पनिक अंदाज में बल्लेबाजी करना पसंद है. सिडनी टेस्ट के अंतिम दिन आपने उन्हें बाएं हाथ से बल्लेबाजी करते देखा होगा, क्योंकि वे समझना चाहते थे नैथन लॉयन कहां गेंद डालें. यह उनका तरीका है। अंग्रेज बल्लेबाज क्रिस वोक्स ने भी कहा है कि आप यह कह सकते हैं कि वे काल्पनिक बल्लेबाजी कर रहे थे, वे आम तौर पर ऐसा करते रहते हैं और यह उनकी आदत है. दूसरी तरफ आप यह भी कह सकते हैं कि वे ऋषभ पंत का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे थे ताकि वे आउट हो जाएं.गुरूवार से श्रीलंका में शुरू हो रहे टेस्ट सिरीज में हिस्सा ले रहे वोक्स ने श्रीलंका से फोन पर कहा, हजारों मील दूर बैठकर यहां से यह कहना मुश्किल होगा कि वे भारतीय बल्लेबाजों का ध्यान भटकाने के लिए ऐसा कर रहे थे. ऐसा नहीं है कि मैंने उन्हें पहली बार ऐसा करते हुए देखा है. इन चीजों पर कई बार ध्यान नहीं जाता है, लेकिन सिडनी टेस्ट के अंतिम दिन इतना रोमांचक मुकाबला था कि इन चीजों पर भी लोगों का ध्यान चला गया। 

Related Articles