अब सायबर पुलिस कर रही है अपनी कार्यप्रणाली में बदलाव

Now the cyber police is changing its functioning

भोपाल/प्रणव बजाज/बिच्छू डॉट कॉम। अपराधों के बदलते परिवेश एवं ऑनलाइन ठगी के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए अब सायबर पुलिस अपनी कार्यप्रणाली मे बदलाव करने जा रही है। इसके लिए अब तकनीकी रूप से दक्ष युवाओं को ही सायबर पुलिस में भर्ती करने के लिए अलग कैडर बनाने की अनुशंसा की गई है। पुलिस मुख्यालय ने इस प्रस्ताव को सहमति देते हुए यह अनुशंसा शासन स्तर तक पहुंचा दी है। कयास लगाए जा रहे है कि इसके बाद ऑनलाइन ठगी एवं धोखाधड़ी के मामलों का कारगार तरीके से निपटारा हो सकेगा। पिछले कुछ वर्षो में जिस रफ्तार से क्रेडिट कार्ड एवं डेबिट कार्ड के माध्यम से धोखाधड़ी के मामलों में इजाफा हुआ है, उसी रफ्तार से सायबर अपराधों का ग्राफ भी बढ़ा है। सायबर थानों में दर्ज हुए अपराधों पर उचित कार्यवाई हो सके, इसके लिए प्रदेश में तकनीकी रूप से दक्ष युवाओं की भर्ती कर सायबर पुलिस अपनी कार्यप्रणाली में बदलाव करने जा रही है। दरअसल अभी तक आईटी एक्ट में इंस्पेक्टर या इससे ऊपर के अधिकारियों को जांच के अधिकार है। अब इंस्पेक्टर के बजाय सब इंस्पेक्टर को आईटी एक्ट में जांच के अधिकार दिए जाने का प्रावधान रखा गया है। थानों में पदस्थ सब इंस्पेक्टरों की संख्या इंस्पेक्टर के मुकाबले अधिक रहती थी। इसका फायदा यह होगा कि अधिक से अधिक मामलों की तहकीकात एक साथ की जा सकेगी।

ये पद स्वीकृत हैं सायबर पुलिस के
प्रदेश में सायबर मुख्यालय ने शासन से सब इंस्पेक्टर व सिपाही स्तर पर करीब 57 पदों पर भर्ती की अनुशंसा की है। पुलिस मुख्यालय ने सैद्धांतिक सहमति देते हुए ये अनुशंसा शासन स्तर तक पहुंचा दी है। सायबर पुलिस के लिए एसआई स्तर के अभी 55 पद स्वीकृत है। सभी पद प्रतिनियुक्ति से भरे गए है। इनमें से 50 प्रतिशत पद सायबर कैडर से भरने की अनुशंसा की गई है। इसके लिए शैक्षणिक योग्यता कम्प्यूटर साइंस व आईटी में इंजीनियरिंग या बीसीए होगी। बाकी भर्ती प्रक्रिया अन्य एसआई स्तर के पदों के तहत ही होगी, लेकिन सायबर कैडर के लिए एक कम्प्यूटर परीक्षा भी होगी। सायबर पुलिस के लिए सिपाही स्तर के लिए अभी 61 पद स्वीकृत है, करीब सभी प्रतिनियुक्ति से भरे गए है। इनमें से 50 प्रतिशत पद सायबर कैडर से भरे जाने की अनुशंसा की गई है। इसमें भी शैक्षणिक योग्यता 12वी एवं दो वर्ष का आईटीआई डिप्लोमा होगा। सिपाही के लिए भी कम्प्यूटर की एक अलग परीक्षा होगी, जिसे पास करना अनिवार्य होगा।

Related Articles