मंदिर निर्माण का भूमि पूजन होते ही असंतुष्टों के बदले सुर

As soon as the temple is land worshiped, instead of dissatisfaction

भोपाल (प्रणव बजाज/बिच्छू डॉट कॉम)। अयोध्या में श्रीराम मंदिर का भूमि पूजन होते ही मध्य प्रदेश में अपनी सरकार व संगठन से नाराज चल रहे भाजपाईयों के सुर अचानक से बदल गए हैं। इसकी वजह बताई जा रही है प्रदेश में शुरु हुई राम लहर। दरअसल अब इन नेताओं को लग रहा है कि अगर वे भाजपा से अलग हुए तो उन्हें बड़ा नुकसान हो सकता है। अचानक असंतुष्टों के सुर बदलने से फिलहाल प्रदेश भाजपा ने रहात की सांस ली है। दरअसल भाजपा के कुछ बड़े नेताओं व पूर्व मंत्रियों के असंतोष की वजह पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके समर्थक विधायकों को भाजपा में शामिल किए जाने के बाद उन्हें अधिक महत्व दिया जाना है। इन पूर्व कांग्रेस नेताओं को नाराज नेताओं की जगह सरकार व संगठन दोनों में ही अधिक महत्व मिल रहा है, जिसकी वजह से भाजपा के पूर्व नेता नाराज चल रहे थे। इनमें से कई के बारे में तो चुनाव के समय बागी होने तक का खतरा बना हुआ दिख रहा था। बीते दो दिन के अंदर असंतुष्ट भाजपा नेताओं के बदले हुए सुर सोशल मीडिया पर दिखना शुरू हो गए हैं। इनमें विधायक अजय विश्नोई, पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया, दीपक जोशी और पूर्व प्रत्याशी मुदित शेजवार जैसे नेता शामिल हैं , जो अब पूरी तरह से राममय दिख रहे हैं। खास बात यह है कि जबलपुर के पाटन से भाजपा विधायक अजय विश्नोई बीते दो माह के दौरान कई बार श्रीमंत से लेकर अपनी सरकार व उसके मुखिया तक को निशाने पर ले चुके हैं। यह निशाना वे जिस ट्विटर पर साधते रहे हैं, अब उसी पर पूरी तरह से राम भक्त दिख रहे हैं। उन्होंने ताजा ट्विट में लिखा है, मैं अभिभूत हूं, अनुग्रहित हूं, धन्य हूं, क्योंकि मैं भूमिपूजन के स्वर्णिम पल का साक्षी हूं। उनसे जब पूराने ट्वीट के बारे में पूछा गया तो उनका कहना है कि की दोनों का एक दूसरे से कुछ लेना-देना नहीं है। वह राजनीति है और यह आस्था है। विश्नोई दावा करते हैं कि उपचुनाव में भाजपा उम्मीदवारों की विजय सुनिश्चित है, क्योंकि न तो कांग्रेस कहीं खड़ी दिख रही है और न ही उसके पास उम्मीदवार हैं। इन बदले हुए सुर से भाजपा फिलहाल राहत महसूस कर रही है।

शेजवार अयोध्या फूल भेजने में शामिल
रायसेन जिले की सांची विधानसभा से चुनाव हार चुके मुदित शैजवार की नाराजगी की वजह सिंधिया खेमे से स्वास्थ्य मंत्री बने डॉ. प्रभुराम चौधरी हैं। उन्होंने ही शेजवार को पराजित किया था। हालांकि मंदिर निर्माण भूजन के दौराज जिन फूलों का उपयोग किया गया वे शेजवार की मदद से ही रायसेन के अनन्या फार्म से भेजे गए थे। इसी तरह से हाटपीपल्या से चुनाव हार चुके पूर्व मंत्री दीपक जोशी ने रामायण सीरियल में राम का किरदार निभाने वाले अरूण गोविल के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए पूरी दुनिया के राम भक्तों का सपना साकार होने पर अपनी खुशी का इजहार किया है।

Related Articles