डायबीटीज कंट्रोल के साथ ही वेट लॉस में मददगार सांभर

बिच्छू डॉट कॉम
हमारे देश में भिन्न भिन्न प्रांतों के पारंपरिक व्यंजन स्वादिष्ट तो होते ही है साथ ही ये हमारी सेहत के लिए भी बहुत ही मददगार होते है। दक्षिण भारत की थालियों में ‘सांभर’ का अलग ही स्थान है। यह न केवल दक्षिण में बल्कि पूरे विश्व में खासा पसंद किया जाता है। इसे गरम-गरम पीने से हमारा शरीर सेहतमंद रहता है, साथ ही इससे हमें कई तरह के फायदे पहुंचते हैं।

सांभर में दाल की अच्छी मात्रा होती है जिससे यह प्रोटीन रिच होता है। प्रोटीन शरीर की टिशूज को बनाने और उन्हें रिपेयर होने में मदद करता है। इसके साथ ही यह एंजाइम्स, हॉर्मोन्स को बनाने और हड्डियों, मसल्स, कार्टिलेज व स्किन को हेल्दी बनाए रखने में भी मदद करता है। फैट और कार्बोहाइड्रेट्स की तरह शरीर प्रोटीन को स्टोर करके नहीं रख पाता है जिससे इसे बाहरी सप्लाई की लगातार जरूरत होती है। बालों से लेकर हड्डियों और मसल्स को मजबूती देने वाला प्रोटीन वेट लॉस में भी मदद करता है। शरीर को हेल्दी बनाए रखने के लिए तीन मैक्रोन्युट्रिअन्ट फैट, कार्ब्स और प्रोटीन जरूरी होते हैं। इनमें से प्रोटीन ज्यादा व्यक्ति को पेट भरा होने का ज्यादा अहसास करवाता है। यह खासियत वजन को कम करने और कंट्रोल में रखने में मदद करती है।

सांभर में कई तरह की सब्जियां भी डाली जाती है जिससे इसमें फाइबर की मात्रा भी भरपूर होती है। यह फाइबर पेट को ज्यादा देर तक भरा रखता है जो वजन कम करने से लेकर ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने में मदद करता है। दरअसल, फाइबर को पेट तेजी से पचा नहीं पाता। इससे पेट ज्यादा देर तक भरा रहता है और भूख नहीं लगती है जो वेट लॉस व कंट्रोल में रखने के इच्छुक लोगों के लिए बढिय़ा है। यही क्रिया शुगर लेवल को भी तेजी से बढऩे नहीं देती जो इसे डायबीटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद बनाती है। इसके साथ ही यह पाचन क्रिया को भी दुरुस्त रखते हुए कब्ज जैसी समस्या को दूर रखता है।

सांभर में ऐंटीऑक्सिडेंट प्रॉपर्टीज से भरे कई तत्व मौजूद होते हैं। इसमें डाले जाने वाले करी पत्ते, अमचूर पाउडर, लाल मिर्च, रई, हल्दी जैसी चीजें ऐंटीऑक्सिडेंट प्रॉपर्टीज के लिए जानी जाती हैं। यह प्रॉपर्टी शरीर के फ्री रैडिकल्स को बाहर फेंकने में मदद करती है। ये रैडिकल्स ऐसे मॉलिक्यूल होते हैं जो सेल्स को नुकसान पहुंचाते हैं, जो कैंसर की वजह भी बन सकते हैं। इतना ही नहीं ये ब्रेन नर्व्स, जॉइंट्स, आई लेंस को भी नुकसान पहुंचाते हैं और बैड कलेस्ट्रॉल को बढ़ाते हैं, जो दिल के लिए खतरनाक हो सकता है। ऐसे में सांभर से मिलने वाले ऐंटीऑक्सिडेंट्स इन बीमारियों को दूर रखने में काफी मदद कर सकते हैं।

सांभर में मौजूद दाल, सब्जी व मसाले बॉडी को डिटॉक्स होने में भी मदद करते हैं। ऐसा होने पर एनर्जी लेवल बूस्ट होता है और इम्युन सिस्टम स्ट्रॉन्ग बनता है जो कॉम फ्लू, सर्दी और खांसी जैसी बीमारियों से बचाने में मदद करता है। इसके साथ ही यह प्रॉपर्टी स्किन को क्लीन रखते हुए उससे जुड़ी परेशानियों को भी दूर रखती है।

Related Articles