नीतीश सरकार में आधे से ज्यादा मंत्रियों पर आपराधिक मामले दर्ज

पटना, बिच्छू डॉट कॉम। नीतीश सरकार में आधे से ज्यादा मंत्रियों पर आपराधिक मामले दर्ज है। छह मंत्रियों पर संगीन किस्म के मामले दर्ज हैं। नई सरकार के 14 मंत्रियों के बारे में जारी रिपोर्ट में बताया गया है कि इसमें से 13 मंत्री करोड़पति हैं। एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार नए मंत्रिमंडल में 57 प्रतिशत मंत्री दागी हैं। जदयू कोटे के छह मंत्रियों में दो मंत्रियों पर घोषित गंभीर किस्म के आपराधिक मामले हैं। भाजपा के छह मंत्रियों में से चार मंत्रियों पर आपराधिक मामले हैं जिसमें से दो पर गंभीर किस्म के आपराधिक मामले हैं। हम पार्टी से इकलौते मंत्री बने हैं। उन पर गंभीर किस्म के आपराधिक मामले हैं। इधर वीआईपी के इकलौते मंत्री पर भी गंभीर किस्म के आपराधिक मामले दर्ज हैं। एडीआर की रिपोर्ट में बताया गया है कि 14 मंत्रियों में से जदयू के पांच मंत्री करोड़पति हैं जबकि भाजपा कोटे के छह मंत्रियों में सभी मंत्री करोड़पति हैं। हम पार्टी के इकलौते मंत्री और वीआईपी के इकलौते मंत्री भी करोड़पति हैं। मंत्रियों की औसत संपत्ति 3.93 करोड़ हैं। इस कैबिनेट में सर्वाधिक संपत्ति वाले मंत्री हैं तारापुर विधानसभा क्षेत्र से निर्वाचित शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी। सबसे कम संपत्ति घोषित करनेवाले मंत्री हैं भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी। देनदारी के मामले में कुल आठ मंत्रियों ने इसकी घोषणा की है। इसमें सिमरी बख्तियारपुर से चुनाव लडऩे वाले वीआईपी के प्रत्याशी मुकेश साहनी पर सर्वाधिक 1.54 करोड़ देनदारी है।

Related Articles