बच्चों के साथ कर रहे हैं सफर तो इन बातों का रखें खास ध्यान

नई दिल्ली, बिच्छू डॉट कॉम।

कोरोना वायरस महामारी के बीच जिंदगी एक बार फिर से पटरी पर लौट आई है। लोग अब अपने घरों से बाहर निकल रहे हैं। मंदिर, मस्जिद, चर्च, गुरुद्वारा, स्कूल, कॉलेजस, जिम सेंटर्स, सिनेमाघर, होटल्स और रेस्त्रां खोल दिए गए हैं। जबकि बस, रेल और हवाई सेवा भी शुरू हो चुकी है। हालांकि, कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या में कमी नहीं आई है। इसके चलते स्वास्थ्य विभाग और रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र ने लोगों को घरों से बाहर निकलने के वक्त आवश्यक सावधानियां बरतने की सलाह दी हैं। लोग कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने और प्रसार को फैलने से रोकने के लिए मास्क पहनकर घरों से बाहर निकल रहे हैं और शारीरिक दूरी का भी ख्याल रख रहे हैं। साथ ही अनचाही वस्तुओं को छूने से गुरेज कर रहे हैं। बड़े तो किसी तरह नियमों का पालन कर लेते हैं, लेकिन जब बात छोटे बच्चों की आती है, तो संशय बना रहता है। खासकर यात्रा के दौरान बच्चों को लेकर विशेष ख्याल रखने की जरूरत है। अगर आप भी अपने बच्चे के साथ ट्रैवेलिंग करने वाले हैं, तो इन बातों का जरूर ध्यान रखें। अगर आपका बच्चा कोरोना वायरस महामारी के बारे में नहीं जानता है, तो अपने बच्चे को इसके बारे में विस्तार से बताएं। खासकर बचाव के तरीके जरूर सिखाएं। उन्हें मास्क पहनना, सैनिटाइज़ करना, शारीरिक दूरी का पालन करना और अनचाही वस्तुओं को न छूने की सलाह दें। साथ ही खुद से कैसे साफ-सफाई का ख्याल रखें, इस बारे में भी अपने बच्चे को बताएं। अगर आपका बच्चा बड़ा है और बैग कैरी कर सकता है, तो बच्चे को एक मिनी बैग जरूर दें। जबकि बैग में मास्क, सैनिटाइजर, टिश्यू आदि जरूर रखें। साथ ही बच्चे को यात्रा के समय यूज करने की हिदायत दें। कोरोना काल में यात्रा के दौरान घर का बना खाना साथ ले जाना सबसे अच्छा है। चूंकि बच्चों की इम्युनिटी कमजोर होती है। अतः अतिरिक्त परहेज के लिए बच्चे को घर का खाना ही दें। कोरोना वायरस महामारी के दौरान बच्चों के साथ यात्रा के लिए स्पेशल प्लान जरूरी है। इसके लिए जरूरत की चीजों का लिस्ट तैयार करें। साथ ही उचित जगह का भी चयन करें। जहां कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा कम हो। अगर जरूरी नहीं है, तो बच्चे को साथ न ले जाएं।

Related Articles