नसों में ब्लॉकेज रोकने के लिए अपनाएं यह आसान उपाय, बीमारियों से मिलेगा छुटकारा

नई दिल्ली, बिच्छू डॉट कॉम।

गलत खान-पान और लाइफस्टाइल के चलते आज 5 में से 3 लोग किसी ना किसी हेल्थ प्रॉब्लम्स से परेशान है। उन्हीं में से एक है नसों में ब्लॉकेज की समस्या, जिसे वैरिकॉज वेंस भी कहते हैं। यह समस्या दिल और पैरों की नसों में अधिक देखने को मिलती है। इसके कारण कोरोनरी धमनी रोग, मन्या धमनी रोग, परिधीय धमनी रोग और हार्ट स्टोक का खतरा बढ़ जाता है।

पहले जानते हैं कारण
गलत खान-पान व बुरे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाने की वजह से नसों में खून का प्रवाह अच्छे से नहीं होता। वहीं खून गाढ़ा हो जाने के कारण भी नसों में ब्लड क्लॉट बनने शुरू हो जाते हैं, जो ब्लॉकेज का रूप ले लेता है। इसके अलावा चोट लगने, एक ही पॉश्चर में घंटों तक बैठना, फिजिकल एक्टीविटी की कमी, कब्ज, मोटापे के कारण या विटामिन-सी की कमी के कारण यह समस्या अधिक देखने को मिलती है। वहीं उम्रदराज लोगों में भी ये परेशानी अधिक होती है।

ग्रीन टी
ग्रीन टी का सेवन भी बंद नसें खोलने में मदद करता है क्योंकि इससे खून पतला होता है।

तुलसी
तुलसी के पत्तोंं, दालचीनी व काली मिर्च का काढ़ा बनाकर पीने से भी बंद नसें खुल जाएंगी।

लहसुन
भोजन में लहसुन का अधिक इस्तेमाल करें। साथ ही इसकी चाय बनाकर दिन में 2 बार पीएं। बंद धमनियों की समस्या होने पर 3 लहसुन की कली को 1 कप दूध में उबालकर पीएं।

अदरक
भोजन में अदरक का अधिक इस्तेमाल करें या इसकी चाय बनाकर पीएं।

लौंग का काढ़ा
लौंग, इलायची व काली मिर्च का काढ़ा बनाकर पीने से भी बंद नसें खुल जाती हैं।

फल और सब्जियां
डाइट में मौसमी फल व हरी पत्तेदार सब्जियां, ब्रोकली, चुकंदर आदि शामिल करें।

हल्दी
1 गिलास गुनगुने दूध में 1 चम्?मच हल्?दी पाउडर और थोड़ा-सा शहद मिलाकर पीएं।

पुदीने का तेल
ब्लॉकेज वाले हिस्से पर पुदीने के तेल से मालिश करें। इससे बंद नसें खुल जाएंगी और सूजन व दर्द में भी आराम मिलेगा।

सेब का सिरका
हल्के गुनगुने पानी में आधा चम्मच पिसी हुई बड़ी लाल मिर्च, 1 चम्मच एप्पल साइडर विनेगर और शहद मिक्स कर लें। इस मिश्रण का भोजन के आधे घंटे बाद सेवन करें।

इलायची
इलायची ब्लड सर्कुलेशन सही रखती है और कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है। इसका काढ़ा बनाकर पीने से फायदा होगा।

Related Articles