इन घातक बीमारियों को ठीक करने में मददगार त्रिफला

Triphala helpful in curing these deadly diseases

बिच्छू डॉट कॉम। जैसा की आप सभी जानते हैं त्रिफला चूर्ण पेट संबंधी बीमारियों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। लेकिन क्या आपको पता है कि त्रिफला से सिर्फ पेट संबंधी ही नहीं बल्कि शरीर के और भी अन्य रोगों का इलाज किया जा सकता है। तो चलिए जानेंगे त्रिफला के अन्य फायदों के बारे में…..

हाई ब्लड प्रेशर में राहत
त्रिफला का सेवन करने से हृदय रोग, मधुमेह और उच्च रक्तचाप में आराम मिलता है। यदि आप भी उच्च रक्तचाप या मुधमेह के बढ़ते स्तर से परेशान हैं तो तीन से चार ग्राम त्रिफला के चूर्ण का सेवन प्रतिदिन रात को सोते समय दूध के साथ कर लें। राहत मिलेगी।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए
त्रिफला चूर्ण का सेवन मानव शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा देता है। यदि आपके शरीर में दुर्बलता है तो भी त्रिफला चूर्ण का सेवन कर आप अपने शरीर का कायाकल्प कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए जरूरी है कि आप इसका कई वर्ष तक नियमित रूप से सेवन करें।

कमजोरी दूर करें
शारीरिक दुर्बल व्यक्ति के लिए त्रिफला का सेवन काफी लाभकारी होता है। इसके सेवन करने वाली व्यक्ति की याद्दाश्त भी अन्य लोगों के मुकाबले तेज होती है। इसका सेवन करने से दुर्बलता कम होती है। दुर्बलता को कम करने के लिए त्रिफला को हरड़, बहेड़ा, आंवला, घी और शक्कर को मिलाकर खाना चाहिए।

कब्ज से राहत
त्रिफला चूर्ण का सबसे पहला यही गुण है कि यह कब्ज से राहत देता है। आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी, अनियमित खान-पान और तनाव भरे माहौल में ज्यादातर लोग कब्ज व शारीरिक सुस्ती से ग्रस्त रहते हैं। ऐसे लोगों को त्रिफला का सेवन नियमित गुनगुने पानी के साथ करना चाहिए।

नेत्र रोग से राहत मिले
त्रिफला के चूर्ण को पानी में डालकर आखों को धोने से आखों की परेशानी दूर होती है। मोतियाबिंद, आखों की जलन, आखों का दोष और लंबे समय तक आखों की रोशनी को बढ़ाए रखने के लिए 10 ग्राम गाय के घी में एक चम्मच त्रिफला चूर्ण और पांच ग्राम शहद को मिलाकर सेवन करें।

मोटापे से राहत
यदि आप भी मोटापे की समस्या से ग्रस्त हैं तो त्रिफला का सेवन आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा। मोटापा कम करने के लिए त्रिफला के गुनगुने काढ़े में शहद मिलाकर लें। इसके अलावा त्रिफला चूर्ण को पानी में अच्छे से उबालकर, शहद मिलाकर पीने से शरीर की चर्बी कम होती है।

Related Articles