दांतों की झनझनाहट की समस्या ऐसे होगी दूर

This problem of teeth tingling will be overcome

बिच्छू डॉट कॉम। कई बार कुछ गरम, ठंडा, खट्टा, मीठा खाने पर दांतों में तेज दर्द और झनझनाहट होता है उसे दांतों की सेंसिटिविटी कहते है। दांतो की केविटी, दांत टूटना, मसूड़ो में दर्द एक आम समस्या है। दांतों में झनझनाहट के कारण लोग कुछ भी खाने पीने से कतराते हैं। अपने इस दर्द को दूर करने के लिए लोग डॉक्टर्स के पास जाते हैं और मार्केट में आने वाले तरह-तरह के पेस्ट इस्तेमाल करते हैं। हम आपको कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे बताएंगे जिन्हें अपनाने से आपको दांतो की झनझनाहट की समस्या दूर करने में काफी मदद मिलेगी।

लहसुन
लहसुन में एलिसिन भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर है। यह दांतो की झनझनाहट दूर करने में काफी मदद करता है। 2-3 लहसुन की कलियों को पानी के साथ मिला कर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को दिन में 2 से 3 बार अपने दांतों पर मलें। लहसुन के इस्तेमाल से दांत में दर्द की समस्या से भी निजात मिल जाता है।

नारियल का तेल
नारियल के तेल में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। नारियल के तेल को 10 मिनट तक मुंह में डालकर घुमाएं और फिर थूक दें। इसके बाद नमक के पानी से कुल्ला कर लें। ऐसा दिन में 2 बार करने से दांतों की सेंसिटिविटी की समस्या दूर हो जाती है।

नमक का पानी
नमक में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो मुंह के बैक्टीरिया को खत्म करने के साथ मुंह के ph को भी समान्य करता है। नमक के पानी से दिन में 2 बार कुल्ला करने से दांतों की झनझनाहट की समस्या दूर हो जाती है।

प्याज
कच्चे प्याज में फ्लैवेनॉइड और एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुण होते हैं। इसके इस्तेमाल से दांतो की झनझमाहट की समस्या दूर हो जाती है। प्याज के एक छोटे टुकड़े को दांतों में दबाएं और 5 मिनट बाद नमक के पानी से कुल्ला कर लें।

लौंग
लौंग को मुंह में रख लेने से दांतों में दर्द की समस्या का निदान हो जाता है। लौंग में एंटी-इंफ्लेमेंट्री और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो कि दांतों के दर्द को कम करने और मुंह के इंफेक्शन को खत्म करने में मदद करते हैं। इसके लिए आप लौंग को दातों के बीच रख कर चबा सकते हैं य फिर लौंग के तेल को दांतों पर मल सकते हैं। इससे दांतो की समस्या से जल्दी छुटकारा मिल सकता है।

Related Articles