ऐसे करें खराब पाचन तंत्र को दुरुस्त

सेहत

बिच्छू डॉट कॉम।  पाचन तंत्र बेहतर अच्छी सेहत के लिए बेहद जरूरी है। इससे बीमारियों से लड़ने की शक्ति मिलने के साथ संक्रमित होने से बचाव रहता है। वहीं इसके विपरीत खराब पाचन तंत्र से अपच, एसिडिटी, पेट दर्द आदि की समस्याएं रहती है। मगर आयुर्वेद के अनुसार डेली रुटीन में हैल्दी चीजें व आदतों को अपनाकर पाचन तंत्र दुरुस्त रखा जा सकता है। तो चलिए हम आपको इस आर्टिकल में आयुर्वेदिक टिप्स बताते हैं, जिसे फॉलो करके आप अपनी पाचन शक्ति मजबूत कर सकते हैं।

– आयुर्वेद में सुबह गर्म पानी पीने की सलाह दी जाती है। खासतौर पर इसके लिए कोपर का बर्तन इस्तेमाल करना फायदेमंद रहेगा। इससे शरीर को सभी जरूरी मिनरल्स व विटामिन मिलेंगे। साथ ही शरीर में मौजूद गंदगी साफ होकर पाचन तंत्र मजबूत होगा। ऐसे में बीमारियों की चपेट में आने का खतरा कम रहेगा।  

– हर कोई दांतों को चमकाने व स्वस्थ रखने के लिए ब्रथ करता है। मगर स्वस्थ पाचन तंत्र के लिए जीभ का साफ होना भी जरूरी है। नहीं तो जीभ में पनपने बैक्टीरियां पेट में जाकर पाचन तंत्र को खराब करने का कारण बनते हैं। इसके लिए सुबह व रात को ब्रश के बाद टंग स्क्रैपर से जीभ की सफाई करें। इससे जीभ में जमा सारे बैक्टीरिया साफ होकर पाचन तंत्र स्वस्थ रहने में मदद मिलेगी।

– आयुर्वेद के अनुसार, बासी व ठंडा भोजन हमारे पाचन तंत्र को खराब करने का काम करता है। इससे पेट, एसिडिटी, अपच आदि परेशानियां हो सकती है। इसके लिए हमेशा गर्म व ताजा खाना ही खाएं। इसके अलावा एक्सपर्ट्स के अनुसार डिनर में ठंडी स्मूदी और दही खाने परहेज रखना चाहिए। इससे पाचन तंत्र धीमा होने के साथ खराब हो सकता है।

– दही से तैयार लस्सी में मौजूद लैक्टिक एसिड और प्रोबायोटिक्स पाचन तंत्र को मजबूती दिलाते हैं। ये पेट में पनप रहे बैक्टीरिया से लड़ने के साथ बीमारियों की चपेट में आने का खतरा कम करते हैं। ऐसे में फिट एंड फाइन रहने के लिए रोजाना 1 गिलास लस्सी का सेवन करें। सुबह के समय इसे पीने से सुस्ती पड़ सकती है। ऐसे में बेहतर होगा कि आप इसे दोपहर के समय पीएं।

– भागदौड़ भरी जिंदगी के चलते बहुत से लोग मोबाइल व लैपटॉप को देखते हुए खाना खाते हैं। ऐसे में वे ठीक से भोजन नहीं चबाते हैं। साथ ही ओवरईटिंग कर बैठते हैं। मगर इससे एसिडिटी, पेट दर्द, अपच, पेट में भारीपन की शिकायत होने लगती है। ऐसे में बेहतर पाचन तंत्र के लिए जरूरी है कि शांति व आराम से भोजन किया जाएं।

– अगर आप भी खाने के तुरंत बाद बैठ या लेट जाते हैं तो अपनी इस आदत को बदल लें। इससे अपच, एसिडिटी व मोटापे की शिकायत हो सकती है। आयुर्वेद के अनुसार, खाने के बाद 15 मिनट कर टहलना या सौ कदम चलना चाहिए। इससे खाना सही से पचाने में मदद मिलती है। साथ ही पाचन तंत्र दुरुस्त होकर बीमारियों से बचाव रहता है।

– अक्सर लोग रात के समय में हैवी खाते हैं। मगर इसका सीधा असर पाचन तंत्र पर पड़ता है। ऐसे में पाचन शक्ति धीमी होने के साथ बीमारियों की चपेट में आने का खतरा बढ़ता है। इसके लिए जरूर है कि रात के समय हल्का व कम मसालेदार भोजन खाएं। हां आप चाहे तो नाश्ते व लंच में हैवी चीजें शामिल कर सकते हैं। 

Related Articles