त्‍वचा संबंधी रोगों को दूर करने में मददगार लौंग

Cloves helpful in curing skin diseases

बिच्छू डॉट कॉम।  लौंग हमारे घर की रसोई में आसानी से उपलब्‍ध रहने वाला मसाला है इस खुश्‍बूदार मसाले में शरीर को स्‍वस्‍थ रखने के लाखों गुण मौजूद हैं। लौंग दो तरह की होती है एक तेज गंध वाली दूसरी नीले रंग की होती है। इसका तेल मशीनों से निकाला जाता है। लौंग के गुण की खान होते हैं। दांत दर्द के लिए लौंग का तेल बहुत फायदेमंद है। त्‍वचा संबंधी रोगों में लौंग का तेल काफी गुणकारी होता है। चार लौंग को भूनकर शहद के साथ चाटने से खांसी में आराम मिल जाता है, दिन में तीन बार शहद के साथ लेने से खांसी तुरंत बन्‍द हो जाती है।

  • पेट में गैस होने पर एक कप उबलते हुए पानी में दो लौंग को पीसकर डालें। उसके बाद पानी ठंडा होने के बाद पी लीजिए, पेट की गैस समाप्त हो जाएगी।
  • लौंग पीसकर गर्म पानी के साथ खाने से जुकाम और बुखार ठीक होता है।
  • त्वचा के किसी भी प्रकार के रोग के लिए इसका प्रयोग किया जा सकता है। त्वचा रोग होने पर चंदन के बूरे के साथ लौंग का लेप लगाने से फायदा होता है।
  • लौंग को हल्का भूनकर चबाने से मुंह की दुर्गंध समाप्त होती है।
  • दांतों में दर्द होने पर नींबू के रस में 2-3 लौंग को पीसकर मिली लीजिए, उसके बाद दांतों पर इसका लेप लगाइए, दांत दर्द समाप्त हो जाएगा।
  • मुंह में अगर छाले हों तो लौंग चबाने से फायदा होता है।
  • गर्दन में दर्द या फिर गले की सूजन होने पर लौंग को सरसों के तेल के साथ मालिश करने पर दर्द समाप्त होता है।

Related Articles