जब फूट-फूटकर रोए थे नवाजुद्दीन

When Nawazuddin wept bitterly

बिच्छू डॉट कॉम। ‘गैंग्स ऑफ़ वासेपुर’, ‘मांझी: द माउंटेन मैन’, मंटो, बदलापुर और हाल ही में आई सीरियस मैन के अलावा ना जाने कितनी बेहतरीन फिल्मों में नज़र आ चुके नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने भी अपने करियर में बुरे दौर देखे हैं उन्होंने लंबा स्ट्रगलिंग पीरियड देखा है जिसके बाद इंडस्ट्री में इस मुकाम तक पहुंचने में कामयाब हुए हैं नवाज को अपने करियर के शुरुआती समय का वो दौर आज भी नहीं भूला है जिसमें कई फिल्मों में उनके द्वारा किए गए छोटे-मोटे रोल पर कैंची चलाकर उन्हें काट दिया जाता था और उनकी मेहनत पर पानी फिर जाता था।

नवाज़ को ऐसा ही एक किस्सा आज तक नहीं भूला है क्योंकि साउथ के सुपरस्टार और उनके पसंदीदा अभिनेता कमल हासन का नाम इससे जुड़ा हुआ है एक वेबसाइट से बातचीत में नवाज़ ने एक किस्सा खुद शेयर करते हुए कहा, ”ऐसे कई वाकये हुए हैं जब मैंने फिल्मों में छोटे-मोटे रोल किए और उन पर कैंची चला दी गई ऐसा ही एक वाकया जो आज तक नहीं भूला क्योंकि वो मेरे आइडियल कमल हासन जी से जुड़ा हुआ है।”

”जब कमलजी साल 2000 में ‘हे राम’ बना रहे थे और उसमें काम भी कर रहे थे तो मैं उनका हिंदी डायलॉग कोच था उन्होंने मुझे फिल्म में एक छोटा सा रोल करने को कहा मैं खुशी-खुशी मान गया और बेहद उत्साहित हो गया क्यूंकि मुझे अपने आइडियल के साथ काम करने का मौका मिलने जा रहा था ये एक अहम् रोल था मुझे मॉब अटैक में घायल हुए व्यक्ति का रोल निभाना था जिसे कमल हासन बचाते हैं लेकिन मेरा रोल काट दिया गया जब मुझे ये बात मालूम चली तो मैं खूब रोया तब उनकी बेटी श्रुति हासन ने मुझे दिलासा दिया लेकिन मेरे मन में कमल हासन जी के प्रति कोई कड़वाहट नहीं है वो महान आर्टिस्ट हैं और उनके पास बहुत नॉलेज है।”

Related Articles