कोविड-19 से सबसे ज्यादा नौकरियां युवाओं की गई

नई दिल्ली, बिच्छू डॉट कॉम। कोरोनावायरस के चलते हुए लॉकडाउन में नौकरियों का सबसे ज्यादा नुकसान 40 साल के कम उम्र के लोगों को हुआ है। इससे जो लोग नौकरी में अभी बने हुए हैं, उनमें 40 साल से ज्यादा उम्र के लोगों का पर्सेंटेज बढ़ गया है। वर्कफोर्स में बना यह ट्रेंड मौजूदा वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में स्ट्रॉन्ग इकोनॉमिक रिकवरी के लिए अच्छा नहीं है। ये बातें सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इकोनॉमी ने अपने वीकली एनालिसिस में कही हैं। सबसे ज्यादा जॉब लॉस शहरी इलाकों में हुआ है। इसका सबसे ज्यादा नुकसान कम उम्र के वर्कर्स और उनमें भी फीमेल वर्कर्स को उठाना पड़ा है। जॉब लॉस को अगर एडुकेशन लेवल के हिसाब से देखें तो ज्यादा मार ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट्स पर पड़ी है। वित्त वर्ष 2020-21 में दिसंबर तक वर्क फोर्स में 40 साल से ज्यादा उम्र के लोगों का पर्सेंटेज बढ़कर 60 फीसदी हो गया है।

Related Articles