यूएई के व्यापारी मुरारी लाल बने जेट एयरवेज के मालिक

नई दिल्ली, बिच्छू डॉट कॉम।

यूके बेस्ड कालरॉक कैपिटल और संयुक्त अरब अमीरात के आंत्रप्रेन्योर मुरारी लाल जालान वाली कंसोर्टियम अब जेट एयरवेज की नई मालिक होगी। जेट एयरवेज को कर्ज देने वाली क्रेडिटर्स कमिटी ने इसकी मंजूरी दे दी है। करीब एक साल पहले जेट एयरवेज को संचालित करने के लिए फंड्स की गंभीर समस्या की वजह से बंद करना पड़ा था। एयरलाइंस के लेंडर द्वारा नियुक्त किए गए रिजॉल्युशन प्रोफेशनल आशीष छाछरिया ने स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी में कहा, ”ई-वोटिंग आज यानी 17 अक्टूबर 2020 को पूरी हो गई है और कमिटी ऑफ क्रेडिटर्स ने कोड के सेक्शन 30(4) के तहत मुरारीलाल जालान और फ्लोरिएन फ्रिट्श (Florian Fritsch) का रेज्योलूशन प्लान मंजूर कर लिया है।

इन दो कंसोर्टियम से मिली थीं बोलियां
जेट एयरवेज को दो कंसोर्टियम से बोलियां मिली थीं, जिनमें से एक यूके बेस्ड कालरॉक कैपिटल और यूएई के आंत्रप्रेन्योर मुरारी लाल जालान और दूसरी हरियाणा की फ्लाइट सिमुलेशन टेक्नीक सेंटर, मुंबई स्थित बिग चार्टर और अबू धाबी की इंपीरियल कैपिटल इंवेस्टमेंट्स एलएलसी थी।

फिर उड़ान भरेगी जेट एयरवेज
इसी के साथ कर्ज में फंसी और दिवालिया हो चुकी एयरलाइंस कंपनी जेट एयरवेज के एक बार फिर उड़ने की उम्मीद बढ़ गई है। जेट एयरवेज का कामकाज अप्रैल 2019 में बंद हुआ था। एक साल से ज्यादा लंबे वक्त के बाद लेंडर्स ने जेट एयरवेज को रिवाइव और ऑपरेट करने के लिए किसी का प्रपोजल स्वीकार किया है। नरेश गोयल की यह एयरलाइन कंपनी का कैश खत्म हो गया था जिसके कारण इसका कामकाज बंद करना पड़ा था।

Related Articles