भीतर ही भीतर कमलनाथ के खिलाफ विरोध के स्वर

कमलनाथ

भोपाल/हृदेश धारवार/बिच्छू डॉट कॉम। प्रदेश कांग्रेस में वरिष्ठों की मनमानी और अपनों को उपकृत करने की परंपरा अब मुश्किल बनती जा रही है। इसकी वजह है पार्टी के कार्यकर्ताओं में उनकी कार्यशैली को लेकर उपज रहा असंतोष। हालात यह है कि पार्टी में कई नेता ऐसे हैं जो एक-दो नहीं बल्कि तीन -तीन पदों पर कब्जा जमाए हुए हैं , जबकि कई कार्यकर्ता अच्छा काम करने के बाद भी एक पद के लिए भी तरस रहे हैं। यही वजह है कि अब कार्यकर्ताओं में व्याप्त यह असंतोष शिकायत के रुप में सामने आने लगा है। इस पत्र में अप्रत्यक्ष रुप से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ पर भी निशाना साधा गया है। इसकी वजह है वे पीसीसी चीफ रहते न केवल मुख्यमंत्री रहे हैं, बल्कि पार्टी की सत्ता जाने के बाद भी वे प्रदेश संगठन के मुखिया तो बने ही हुए हैं साथ ही नेता प्रतिपक्ष का दायित्व भी देख रहे हैं। यही वजह है कि इसे राजनैतिक प्रेक्षक  भीतर ही भीतर कमलनाथ के खिलाफ विरोध के स्वर के रुप में देख रहे हैं। इसे भीतर ही भीतर कमलनाथ के खिलाफ विरोध के उठने वाले स्वर के रुप में भी देखा जा रहा है। इसको लेकर हाल ही में पार्टी अलाकमान से लेकर प्रदेश प्रभारी तक से शिकायत की गई है। इसमें पार्टी द्वारा पूर्व में लिए गए एक व्यक्ति एक पद के सिद्धांत पर अमल करने की मांग की गई है। इस पत्र में उन नेताओं के बारे में पूरी जानकारी दी गई जो न केवल लगातार संगठन द्वारा उपकृत हो रहे हैं, बल्कि अब भी एक से अधिक पदों पर बने हुए हैं। इस पत्र में खासतौर पर उन लोगों के नामों का उल्लेख किया गया है, जो संगठन के साथ ही विधायक भी हैं। खास बात यह है कि विधानसभा आम चुनाव के पहले प्रदेश कांग्रेस में कई ऐसे नेताओं को महत्वपूर्ण पद दिए थे जो विधायक भी थे। बाद में उनमें से कुछ सरकार बनने के बाद मंत्री भी बने, लेकिन इसके बाद भी संगठन के पद पर भी काबिज बने रहे।
विधायक वानखेड़े के पास संगठन में दो पद
कांग्रेस में विपिन वानखेड़े ऐसे नेता हैं जो न केवल विधायक हैं बल्कि संगठन स्तर पर भी दो अलग-अलग पदों पर काबिज हैं। इसमें भी वे एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष तो हैं ही, साथ ही युवा कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष भी हैं। इसी तरह कई सीनियर विधायक भी प्रदेश कांग्रेस में पदाधिकारी बने हुए हैं। इसी तरह हाल ही में रतलाम ग्रामीण में हर्ष विजय गेहलोत और मंडला जिले में फुंदेलाल मार्को को जिलाध्यक्ष बनाया गया है। यह दोनों ही नेता विधायक भी हैं।

Related Articles