शाबास क्राइम ब्रांच: जो तुमने लल्ला शिवहरे के रिश्तेदार के पब पर कार्रवाई की

Shabas Crime Branch: What you did at Lall Shivhare's relative's pub

भोपाल क्राइम ब्रांच के जज्बे को सलाम जो उन्होंने लिकर किंग लल्ला शिवहरे के रिश्तेदार  के पब पर छापा मारकर साहस का काम किया है। विवेक शिवहरे जिसका के-टू क्लब एवं लाउंज है वह लल्ला शिवहरे का रिश्तेदार है। यही वजह है कि पूरे भोपाल में सुबह 4 बजे तक शराब परोसी जाती है। बाकी अन्य बारों को  लल्ला शिवहरे के गुर्गे 10 बजे तक बंद करा देते हैं। ज्ञात रहे कि 2020-21 के पूरे प्रदेश के ठेके शिवहरे सिंडिकेट को मिले हैं। लल्ला शिवहरे के संबंध भाजपा के कई रसूखदारों से बहुत मधुर हैं।

भोपाल/राकेश व्यास/बिच्छू डॉट कॉम। चूनाभट्टी तिराहे पर स्थित के-टू पब और लाउंज पर चूनाभट्टी और क्राइम ब्रांच पुलिस ने देर रात छापामार कार्रवाई की है। यहां कुख्यात बदमाश जुबेर मौलाना की जन्मदिन पार्टी चल रही थी। जहां उसके साथी हथियारों के साथ पहुंचे थे। जैसे ही पुलिस ने दबिश दी अफरा-तफरी मच गई। पुलिस ने जुबेर को डेढ़ किलो गांजा और उसके साथ चार साथियों को चाकू और छूरे के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मौके से शराब, बियर की बोतलें और तंबाकू के हुक्का जब्त किए हैं। चूनाभट्टी पुलिस ने के-टू के मालिक विवेक शिवहरे, मैनेजर कैलाश लोधी के खिलाफ लॉकडाउन का उल्लंघन, आबकारी एक्ट, तंबाकू उत्पाद अधिनियम के तहत केस दर्ज कर गिफ्रतार किया है। हालांकि जमानती धाराएं होने से दोनों को जमानत पर छोड़ दिया गया। थाना प्रभारी ने बताया कि शनिवार-रविवार की दरयानी रात करीब एक बजे सूचना मिली थी कि के-टू क्लब और लाउंज में बदमाश जुबेर मौलाना अपने कुछ साथियों के साथ हथियार लेकर पहुंचा है। जहां उसका जन्मदिन मनाया जा रहा है। सूचना मिलते ही चूनाभद्दट्टी और क्राइम ब्रांच पुलिस ने एक टीम बनाई और रात करीब एक बजे दबिश दी। जहां करीब 50 से ज्यादा लोग शराब और हुक्का के नशे में झूम रहे थे। पुलिस को देख अफरा-तफरी का मच गई। क्लब के अंदर संचालक विवेक शिवहरे और मैनेजर कैलाश लोधी बैठे मिले। टेबिल पर तंबाकू युक्त हुक्का व शराब की बोतलें पड़ी थीं।

त्रिपाठी की कार्यशैली भी सवालों के घेरे में
धार में पदस्थ रहे आबकारी उप निरीक्षक विवेक त्रिपाठी की कार्यशैली पर भी अब सवाल उठने लगे हैं। त्रिपाठी बिना वेतन के  2-3 महीनों से भोपाल में काम कर रहे है।   इन्हें आबकारी आयुक्त के द्वारा भोपाल में सरकारी दुकानों के संचालन के कार्य के लिए संलग्न किया गया था।  अब ठेकेदारों के द्वारा दुकानें चलाई जा रही है इसके बाद भी उप निरीक्षक त्रिपाठी यहां जमे हुए हैं।  सामान्य प्रशासन विभाग ने सभी प्रकार के संलग्निकरण को समाप्त कर दिया है।  सूत्र बताते हैं कि यह उप निरीक्षक सब पर भारी हो रहे हैं।  इस उप निरीक्षक के पास भोपाल के 3-4 महत्वपूर्ण सर्किल का प्रभार है। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि बिना  वेतन के कोई कर्मचारी इतने उत्साह से कैसे काम कर सकता है?

शराब माफिया शिवहरे ने जारी किया एक फार्म
शराब माफिया शिवहरे शराब के ठेके आबकारी विभाग की तरह चला रहा है। शिवहरे ने बार संचालकों के लिए एक फार्म जारी किया है। जिसमें
नंबर-2 की शराब का भी जिक्र किया है। शिवहरे अपने ठेके को विद्युत वितरण कंपनी की तरह चला रहा है। फार्म में यह उल्लेखित किया गया है कि उसकी कंपनी के वर्कर आबकारी अधिकारी की तरह कभी भी बार की जांच कर सकते हैं। स्टॉक चेक कर सकते हैं।  बार में बाहर का माल मिलता है तो बार संचालकों के खिलाफ कार्रवाई भी कर सकता है। यह सब आबकारी विभाग के अधिकारियों की शह पर हो रहा है। शिवहरे की काली कमाई में आबकारी विभाग के अधिकारी भी बराबर के हिस्सेदार हैं। शायद यही वजह है कि अधिकारी कार्रवाई करने से बच रहे हैं।

पब का बार लायसेंस निलंबित किया निरस्त क्यों नहीं?
बताया गया है कि लॉकडाउन में देर रात क्लब का संचालन करने और शराब की बोतलें व एक्सपायरी डेट की बीयर की पेटी मिलने पर संचालक विवेक शिवहरे के खिलाफ कार्यवाही की गई है। क्लब संचालन की शर्तों का उल्लंघन करने और एक्सपायरी डेट का शराब परोसने पर जिला कलेक्टर ने आबकारी विभाग के प्रतिवेदन बार लायसेंस निलंबित कर दिया है और क्लब को नोटिस जारी किया है, लेकिन सवाल उठ रहे हैं कि बार का लायसेंस निरस्त क्यों नही किया गया।
जुबेर की कार में मिला गांजा, चार साथी चाकू और छूरा के साथ गिरफ्तार: पुलिस ने बताया कि अंधेरे का फायदा उठाकर ऐशबाग निवासी बदमाश जुबेर मौलाना मौके से भाग निकला। पुलिस ने उसके साथियों का पीछा किया। सुबह उजाला होने पर उसके साथी वासित अली उर्फ तन्ना, मोहम्मद जैद, दानिश बेग और रहमान खान को वाल्मी परिसर कलियासोत डैम के पास से गिरफ्तार कर लिया है।

Related Articles