अब फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा प्यारे मियां का केस


भोपाल, बिच्छू डॉट काम। कोरोना संकट के बीच प्रदेश की राजधानी भोपाल के हाईप्रोफाइल नाबालिग बच्चियों के यौन शोषण मामले का मुख्य आरोपी प्यारे मियां केस फिर चर्चा में आ गया है, बता दें कि अब नाबालिग लड़कियों से यौन शोषण के आरोपी प्यारे मियां जेल में है, वही मुख्य आरोपी प्यारे मियां के खिलाफ केस अब फास्ट ट्रैक अदालत में चलेगा। इससे पीड़ित किशोरियों को शीघ्र न्याय मिलने की उम्मीद है।
पूछताछ जारी: बता दें कि प्रदेश में महामारी कोरोना वायरस के संकटकाल के बीच राजधानी भोपाल के हाईप्रोफाइल नाबालिग बच्चियों के यौन शोषण मामले में लगातार पूछताछ जारी है। वही पूछताछ में पता चला कि प्यारे मियां ने कोहेफिजा क्षेत्र में भी एक किशोरी के साथ दुष्कर्म किया था। प्यारे के खिलाफ शाहपुरा, कोहेफिजा थाने के अलावा इंदौर में भी दुष्कर्म के मामले दर्ज हैं।
पुलिस का प्रयास है कि जल्द से जल्द सजा मिले: शाहपुरा थाने में दर्ज केस की विवेचना पूरी कर कोर्ट में आठ सितंबर को चालान भी पेश किया जा चुका है। एसपी (साउथ जोन) एस साईं कृष्ण थोटा ने बताया कि पुलिस का प्रयास है कि नाबालिगों से दुष्कर्म के मामले के मामले में आरोपित को जल्द से जल्द सजा मिले। इस वजह से आरोपित प्यारे मियां के केस को फास्ट ट्रैक अदालत में शामिल किया है।
अब फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा केस: नाबालिग लड़कियों के बलात्कारी प्यारे मियां केस अब फास्ट ट्रैक अदालत में चलेगा। इससे पीडि़त किशोरियों को शीघ्र न्याय मिलने की उम्मीद है। एसपी ने बताया कि पुलिस का प्रयास है कि नाबालिगों से दुष्कर्म के मामले में आरोपित को जल्द से जल्द सजा मिले। इस वजह से आरोपित प्यारे मियां के केस को फास्ट ट्रैक अदालत में शामिल किया है।
12 जुलाई को दर्ज हुआ था पहला केस, इंदौर में भी दुष्कर्म के तीन केस दर्ज-एएसपी राजेशसिंह भदौरिया ने बताया कि प्यारे मियां के खिलाफ 12 जुलाई को एक किशोरी के साथ दुष्कर्म का केस दर्ज किया था। आरोपित को पुलिस श्रीनगर से गिरफ्तार कर 17 जुलाई को भोपाल लाई थी। पूछताछ में पता चला कि प्यारे मियां ने कोहेफिजा क्षेत्र में भी एक किशोरी के साथ दुष्कर्म किया था। आपराधिक मामले में आरोपित स्वीटी, अनस, राबिया, गुलफाम भी प्यारे मियां का सहयोग करते थे। पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया था। इसके अतिरिक्त इंदौर में भी प्यारे मियां के खिलाफ दुष्कर्म के तीन केस दर्ज किए गए हैं।

Related Articles