कमलनाथ के इस्तीफे पर रो पड़े थे लोधी, आज भाजपा में हुए शामिल

भोपाल, बिच्छू डॉट कॉम। मध्यप्रदेश में भाजपा के ऑपरेशन लोटस के बाद 15 माह की कमलनाथ सरकार गिर गई थी। जिसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पाला बदलकर मुख्य भूमिका निभाई थी। उस समय मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस्तीफा दिया था, उस समय पूरे कांग्रेस दल में मायूसी दिखी थी, लेकिन एक शख्स ऐसा भी था जो नाथ के इस्तीफे पर रो दिया था। वह थे प्रद्युम्न सिंह लोधी। वहीं आज उन्हीं प्रद्युम्न सिंह लोधी ने कांग्रेस का दामन छोड़ भाजपा ज्वाइन कर ली। इसके लिए लोधी ने तर्क दिया कि भाजपा के विकास कार्यों से प्रभावित होकर उन्होंने कांग्रेस से इस्तीफा दिया है। शिवराज ने विकास किया है। हम चाहते थे कि क्षेत्र में विकास हो। हमारे यहां पलायन होता है। उन्होंने यह भी कहा कि कमलनाथ सिर्फ छिंदवाड़ा के मुख्यमंत्री थे। वहीं काम करने में लगे थे। आज रविवार सुबह प्रद्युम्न सिंह लोधी भाजपा में शामिल होने से पहले पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के बंगले पर पहुंचे। यहां बातचीत होने के बाद वे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिले। सीएम ने मिठाई खिलाकर पार्टी में उनका स्वागत किया। अब उनके मंत्री बनाए जाने के कयास भी लगाए जाने लगे हैं, क्योंकि मंत्रिमंडल विस्तार के बाद उमा भारती ने बुंदेलखंड और लोधी समाज की अनदेखी के आरोप लगाए थे। इसी को देखते हुए अब उनके मंत्री बनने की संभावना ज्यादा बढ़ गई हैं। बता दें कि दिसंबर 2018 में विधानसभा चुनाव में प्रद्युम्न सिंह लोधी ने भाजपा प्रत्याशी ललिता यादव को हराया था। 2003 में पहली बार उमा भारती मध्य प्रदेश की मुख्यमंत्री बनीं, तब वे बड़ा मलहरा सीट से ही विधायक चुनी गईं थीं।

Related Articles