क्या जगनमोहन एनडीए का हिस्सा बनेंगे?

नगीन बारकिया

आंध्र प्रदेश में चल रही गतिविधियों ने इस बात को हवा दी है कि सत्ताधारी वायएसआर कांग्रेस निकट भविष्य में एनडीए का हिस्सा बन सकती है। मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी सोमवार शाम जब नईदिल्ली पहुंचे तो अफवाहों का बाजार गर्म हो उठा। मुख्यमंत्री के मंगलवार को सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने की उम्मीद है। एक रिपोर्ट के मुताबिक जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि उनकी पार्टी भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए में शामिल हो सकती है। पार्टी नेता ने कहा, पीएम मोदी एनडीए को मजबूत करने के लिए वायएसआर को आमंत्रित कर सकते हैं। उल्लेखनीय है कि पिछले दो हफ्तों में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री की यह दूसरी यात्रा है। 22 सितंबर को जगन ने दिल्ली का दो दिवसीय दौरा किया और केंद्रीय मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। माना जाता है कि राज्य से संबंधित मुद्दों के अलावा एनडीए में शामिल होने पर प्रारंभिक विचार-विमर्श किया गया था। हालांकि, उस दौरान उनकी मुलाकात पीएम मोदी से नहीं हो सकी थी।


क्या अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव टलेगा

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान होने में एक महीने से भी कम का वक्त बचा है। पहली प्रेसिडेंशियल डिबेट के बाद अमेरिका और पूरी दुनिया को चौंकानी वाली खबर सामने आई। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और फर्स्ट लेडी मेलानिया ट्रंप कोरोना वायरस से पीड़ित हो गए। चुनाव से ठीक पहले इस तरह की परिस्थिति पैदा होने से कई तरह के सवाल खड़े हो गए हैं जो अमेरिका के साथ-साथ दुनिया की मीडिया की ओर से पूछे जा रहे हैं। दरअसल, कुछ ही वक्त पहले व्हाइट हाउस के गार्डन में एक कार्यक्रम हुआ था, जहां ये सभी मौजूद थे। रविवार तक व्हाइट हाउस में 20 से अधिक लोग कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। ट्रंप के इस तरह अचानक बीमारी की चपेट में आने से सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या अमेरिकी चुनाव टल जाएगा? क्योंकि अब मतदान को 30 दिन से भी कम बचे हैं। ट्रंप ने अपना पूरा कैंपेन अभी रद्द कर दिया है और उपराष्ट्रपति माइक पेंस जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। पहली प्रेसिडेंशियल डिबेट हो गई है, इसी हफ्ते वाइस प्रेसिडेंशियल डिबेट होगी. लेकिन दूसरी प्रेसिडेंशियल डिबेट 15 अक्टूबर को होगी, ऐसे में कम ही चांस हैं कि डोनाल्ड ट्रंप इसमें शामिल हों। हालांकि, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वो शामिल हो सकते हैं लेकिन वो ट्रंप की तबीयत पर निर्भर करेगा। अगर चुनाव की तारीख की बात करें तो ये अभी नहीं टलेगा। उसका कारण ये है कि अभी तक लाखों अमेरिकी अपना वोट डाल चुके हैं, यानी चुनाव शुरू हो चुका है। कोरोना संकट के कारण इस बार डाक मतपत्र ज्यादा पड़ रहे हैं। ऐसे में जब वोटिंग शुरू हो गई हो तब चुनावी प्रक्रिया को कैसे रोका जा सकता है।

अगली सरकार हमारी- बोले चिराग पासवान
बिहार में लोक जनशक्ति पार्टी और जदयू के आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। इसी बीच चिराग ने सोमवार को फिर बिहार विधानसभा चुनाव में लोजपा की स्थिति और सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बयान दिया। लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने लोगों से अपील की है कि वे नीतीश कुमार के जदयू के पक्ष में मतदान नहीं करें। इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद अगली सरकार उनकी पार्टी और भाजपा के गठबंधन की बनेगी। चिराग ने 28 अक्टूबर से शुरू होने वाले तीन चरण के चुनाव में अपनी पार्टी के उम्मीदवारों के लिए लोगों से समर्थन मांगा है। ज्ञातव्य है कि नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए लोजपा एक दिन पहले ही बिहार में राजग से अलग हो गई थी। चिराग पासवान ने सोमवार को कहा कि किसी न किसी को तो रिस्क लेना ही होगा। अगर आप अपने कंफर्ट ज़ोन में रहेंगे तो पिछले 30 साल हमने कंफर्ट ज़ोन में ही बिता दिए। सिर्फ समीकरण को बिठाने में, सोशल इंजीनियरिंग करने में पिछले 30 साल निकल गए. अगर बिहार को नंबर वन बनाना है तो रिस्क लेना होगा। चिराग ने आगे कहा कि मेरा पूरा विश्वास पीएम मोदी पर है। जिस तरह केंद्र में भाजपा नेतृत्व कर रही है वैसा ही नेतृत्व अगर बिहार में भी भाजपा करे तो पीएम की सोच को धरातल पर उतारा जा सकता है .

भारत ने सीमा पर तैनात की निर्भय क्रूज मिसाइल
भारत चीन सीमा पर जारी तनाव के बीच भी मोदी सरकार भारत की सैन्य ताकत को मजबूती देने का कोई मौका नहीं छोड़ रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार भारत ने सीमा पर निर्भय क्रूज मिसाइल को भी तैनात कर दिया है. यह मिसाइल 1000 किलोमीटर तक मार करने में सक्षम है। निर्भय मिसाइल तिब्बत में चीन के ठिकानों पर हमला करने में सक्षम है। यह तो सभी को पता है कि 5 महीने से ज्यादा समय से भारत और चीन के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है। कई जगहों पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं। ऐसी स्थिति में भारत ने सीमा पर अपनी सबसे भरोसेमंद मिसाइल को तैनात किया है। इसकी रेंज 1000 किमी है। यह मिसाइल बिना भटके अपने निशाने पर अचूक मार करने में सक्षम है। निर्भय क्रूज मिसाइल को भारत में ही डिजाइन और तैयार किया गया है।

Related Articles