‘ऑपरेशन राहुल’ से मलैया परिवार नाखुश

राकेश व्यास

उपचुनावों के दौरान कांग्रेस को बड़ा झटका देते हुए भाजपा ने राहुल लोधी को भाजपा में शामिल तो करा लिया लेकिन में हड़बड़ी में अपने ही वरिष्ठ नेताओं से नाराजगी मोल ले ली है। पार्टी के जनसंघ के समय से समर्पित कार्यकर्ता रहे पूर्व मंत्री जयंत मलैया उनकी पत्नी और भाजपा की राष्ट्रीय पदाधिकारी सुधा मलैया एवं उनके पुत्र सिद्धार्थ मलैया इस निर्णय से खुश नहीं हैं। इसके अलावा जिले के वरिष्ठ नेता रामकृष्ण कुसमरिया और पूर्व सांसद चंद्रभान सिंह भी ख़ुश नहीं बताए जाते। उल्लेखनीय है कि भाजपा सरकार में पिछले एक दशक से अधिक समय तक मलैया की स्थिति संकटमोचक की रही है। पार्टी के ज्यादातर बड़े और गोपनीय फैसलों में उनकी भागीदारी रही है। इस मामले में पार्टी ने उनकी सहमति का बिल्कुल इंतजार नहीं किया जबकि मामला उनकी विधानसभा सीट का ही था। ऑपरेशन राहुल को चुनाव प्रबंधन समिति संयोजक मंत्री भूपेंद्र सिंह ने अंजाम तक पहुंचाया। जिसकी कानों कान किसी को खबर तक नहीं लगने दी। प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने जब इस मामले की जानकारी पूर्व मंत्री जयंत मलैया को फोन पर दी, तो मलैया का जवाब था कि जब सब कुछ तय हो ही गया है तो मुझे क्यों बता रहे हैं।

अपडेट रहने छोटे नेता को लगाया काम पर
उपचुनाव की भागम-भाग में व्यस्त प्रदेश भाजपा के एक नेताजी ने अपडेट रहने का नया तरीका ईजाद कर लिया है। दरअसल वे संगठन पर अपनी पकड़ कमजोर नहीं होने देना चाहते। चूंकि नेताजी को चुनाव में बाहर जाना मजबूरी है। मना कर नहीं सकते लेकिन पीछे से कोई काम ना लगा दे इसलिए निगरानी भी जरूरी है। यही वजह है कि उन्होंने अपने पीछे एक छुटभैया नेताजी को इस काम के लिए छोड़ दिया है। छोटे नेता प्रदेश अध्यक्ष की निगरानी करते रहते है। प्रदेश अध्यक्ष के जितने भी मूवमेंट है उन सब की हर खबर रखते हैं, कौन चाटुकारिता में जुटा है, इस पर भी खास ध्यान रहता है। इनकी होशियारी ऐसी है कि जो भी पता चलता है उसी समय अपने नेताजी तक पहुंचा देते हैं। यही वजह है कि नेताजी बाहर रहते हुए भी हर खबर से अपडेट रहते हैं।

आधार में थंब इम्प्रेशन और फोटो अपडेट का चार्ज 100 रुपए
आधार कार्ड में बायोमेट्रिक थंब इंप्रेशन, फोटो अपडेशन के लिए अब सरकार ने चार्ज 100 रुपए कर दिया है। हालांकि शेष चार्ज यथावत है। वहीं नया आधार फ्री में बनाया जा रहा है। आधार सेंटर पर अपॉइंटमेंट लेकर आधार बनवाने का ऑप्शन खोला गया है। 10 से 15 मिनट के अंतर से दूसरे व्यक्ति को समय मिल जाता है। एड्रेस चेंज कराना, ईमेल आईडी में सुधार करवाना या मोबाइल नंबर में अपडेशन के लिए चार्ज 50 रुपए ही लिया जा रहा है। ई-गवर्नेंस शाखा के प्रभारी अधिकारी ने बताया कि लोगों के द्वारा एड्रेस और फोन नंबर चेंज करने को लेकर आधार में अधिकांश अपडेशन कराया जाता है।

राहुल को लाने भूपेंद्र ने की तीन महीने मेहनत
दमोह से कांग्रेस के विधायक रहे राहुल लोधी को भाजपा में लाने के पीछे प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री तथा चुनाव प्रबंधन समिति के संयोजक भूपेंद्र सिंह की मेहनत रही है। दरअसल गेम प्लान भूपेंद्र सिंह ने बनाया और उसपर उमा भारती ने उम्मीद की मजबूत मुहर लगाई। उल्लेखनीय है कि जून में जब प्रदुम्न सिंह लोधी के भाजपा में शामिल हुए थे उसके बाद से ही राहुल के लिए जमीन तैयार की जाने लगी थी लेकिन वे तैयार नहीं हुए। राहुल तीन महीने भूपेंद्र सिंह के संपर्क में रहे, कई मुलाकातें हुई। तब जाकर एक सप्ताह पहले ही भाजपा में शामिल होने की पटकथा लिखी गई। भूपेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा के बाद अपने प्लान को अंजाम दिया। नवरात्रि के दौरान राहुल भोपाल आए, लेकिन मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा से चर्चा के बाद इस्तीफे के लिए दशहरे का दिन चुना गया। बकौल भूपेंद्र सिंह कई और कांग्रेस के विधायक उनके संपर्क में हैं। हालांकि आने वाले दिनों में और खींचतान की स्थिति बन सकती है। खासतौर पर मतदान के आसपास यह रस्साकशी बढ़ने की संभावना जताई जा रही है ऐसे में कांग्रेस को अपने विधायकों को बचाए रखना बड़ी चुनौती है।

Related Articles