जो बाइडेन जीते, 20 जनवरी को लेंगे शपथ

नगीन बारकिया

अमेरिका में राष्ट्रपति के चुनाव हेतु डाले गए मतों की गिनती पांचवें दिन भी जारी है लेकिन यह तय है कि राष्ट्रपति और उप राष्ट्रपति दोनों ही पदों पर डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जीत रहे हैं। अमेरिका के बड़े मीडिया आउटलेट्स ने भी बाइडेन को विजेता बताया है। इसके साथ ही कमला हैरिस उपराष्ट्रपति बनने जा रही हैं। 77 वर्षीय पूर्व उपराष्ट्रपति अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति होंगे। उधर, ट्रंप ने एक बार फिर खुद को इस चुनाव का विजेता बताया है और कहा है कि बाइडेन अमेरिकी चुनाव में खुद को गलत तरीके से विजेता दिखा रहे हैं। हालाकि भारतीय प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने बाइडेन और कमला हैरिस को बधाई देकर दोनों की जीत पर मुहर लगा दी है। एसोसिएटेड प्रेस के अलावा सीएनएन और एनबीसी न्यूज ने बराक ओबामा के कार्यकाल में उपराष्ट्रपति रहे बाइडेन को विजेता घोषित किया है। खबरों में बताया गया है कि बाइडेन ने पेन्सिलवेनिया में जीत से 20 इलेक्टोरल वोट्स हासिल किए हैं, जिससे उन्होंने बहुमत के लिए जरूरी 270 के आंकड़े को आसानी से पार कर लिया है। बाइडेन और हैरिस 20 जनवरी को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे। चुनाव में जीत हासिल करने के बाद लोगों को शुक्रिया कहते हुए बाइडेन ने ट्वीट किया, ”अमेरिका, मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं कि आपने मुझे देश का नेतृत्व करने के लिए चुना है। हमारे सामने कठिन चुनौती है, लेकिन मैं आपसे वादा करता हूं: मैं सभी अमेरिकियों का राष्ट्रपति रहूंगा, भले ही आपने मेरे लिए वोट किया या नहीं। आपने मुझमें जो भरोसा जताया है मैं उसे बनाए रखूंगा।”

भारतवंशी कमला हैरिस बनेगी उपराष्ट्रपति
चुनाव परिणामों में स्पष्ट हो गया है कि भारतीय मूल की कमला हैरिस अमेरिका की पहली अश्वेत महिला उपराष्ट्रपति बनने जा रही है। कमला कैलिफोर्निया की सीनेटर हैं। उन्हें इस बात का भी श्रेय मिला है कि वे पहली दक्षिण एशियाई हैं जो अमेरिकी उपराष्ट्रपति भी होंगी। इसके साथ-साथ यह पहली बार ही होगा कि भारतीय मूल से जुड़ी कोई महिला अमेरिका के उपराष्ट्रपति पद वाला पदभार संभालेंगी। अमेरिकी चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद कमला हैरिस ने ट्वीट कर खुशी व्यक्त की है। उन्होंने ट्विटर पर अपना एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि यह चुनाव बाइडेन और मेरे लिए बहुत अधिक मायने रखता हैं। यह अमेरिका की आत्मा और इसके लिए लड़ने की हमारी इच्छा के बारे में है। हमारे आगे बहुत काम है। आइए शुरू करें। उल्लेखनीय है कि कमला हैरिस का नाम उपराष्ट्रपति पद के लिए तय हो जाने के बाद से ही कमला न्यूज चैनलों का आकर्षण बनी रहीं। उनके दौरे और भाषणों को अतिरिक्त कवरेज मिला तथा उन्होंने बाइडेन से भी अधिक सुर्खियां बटोरी। ऐसा फुटेज एक उपराष्ट्रपति उम्मीदवार को शायद ही मिला होगा।

यूएन में भारत की महत्वपूर्ण जीत
अमेरिका में रही मतगणना के बीच वहां से भारत के लिए दो खुशखबरी आई। पहली तो कमला हैरिस के उपराष्ट्रपति का चुनाव जीतने की और दूसरी संयुक्त राष्ट्र (यूएन) में एक महत्वपूर्ण जीत हासिल करने की। यह खबर है भारतीय राजनयिक विदिशा मैत्रा को जनरल असेंबली के सहायक अंग प्रशासनिक और बजटीय प्रश्न (एसीएबीक्यू) पर संयुक्त राष्ट्र सलाहकार समिति के लिए चुने जाने की। संयोग यह है कि दोनों खबरों का श्रेय महिलाओं के खाते में गया है। विदिशा मैत्रा ने 126 वोट हासिल किए, जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी को केवल 64 वोट मिले। विदिशा के प्रतिद्वंदी इराक के अली मोहम्मद फेक अल-दबग थे। 193 सदस्यीय महासभा सलाहकार समिति के सदस्यों की नियुक्ति करती है। सदस्यों का चयन व्यापक भौगोलिक प्रतिनिधित्व, व्यक्तिगत योग्यता और अनुभव के आधार पर किया जाता है। विदिशा जिस पोस्‍ट के लिए चुनी गई हैं, वह एशिया पैसेफिक ग्रुप में अकेला पद है।

बिहार चुनाव में कांटे की टक्कर, एक्जिट पोल भी दुविधा में
बिहार में कल अंतिम दौर का मतदान खत्म होने के साथ ही बिहार सरकार का भविष्य भी ईवीएम में बंद हो गया। शाम को घोषित विभिन्न एक्जिट पोल के नतीजे भी तस्वीर साफ नहीं कर पाए। हालाकि छह में से दो चैनल सर्वे में तेजस्वी यादव की सरकार बनने की संभावना जता रहे हैं। चार एक्जिट पोल अलग अलग दावे कर रहे हैं। यहां एनडीए या महागठबंधन में किसी की भी सरकार बन सकती है। एक्सिस माई इंडिया एग्जिट पोल के नतीजों का दावा है कि बिहार में महागठबंधन को बहुमत मिलने का अनुमान है। तमाम एग्जिट पोल में अगर सबसे बड़ा झटका लगा है तो वह चिराग पासवान की पार्टी लोजपा को। तमाम एग्जिट पोल में लोजपा को 10 से कम सीट मिलने का अनुमान है। एक्सिस माई इंडिया एग्जिट पोल के नतीजों का दावा है कि एनडीए को 69 से 91, महागठबंधन को 139 से 161 और लोजपा को 3 से पांच सीट मिल सकती हैं।

Related Articles