यूएन में भारत ने चीन को दिया झटका

नगीन बारकिया

एक तरफ जहां लद्दाख में एलएसी पर तनाव जारी है वहीं दूसरी ओर भारत का चीन पर दबाव भी जारी है। कल भारत ने अंतरराष्ट्रीय मोर्चे पर चीन को करारी पराजय को मजबूर कर विश्व के सबसे बड़े मंच पर पटखनी दी। संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के आर्थिक और सामाजिक परिषद की एक संस्था यूनाइटेड नेशन के कमीशन ऑफ स्टेटस ऑफ वूमेन के सदस्य के रूप में जब भारत को चुना गया तो यह चीन को बौखला देने के लिए काफी था। यह आयोग विश्व में महिलाओं की स्थिति पर काम करता है। यूएन सूत्रों के अनुसार भारत, अफगानिस्तान और चीन ने कमीशन ऑन स्टेटस ऑफ वूमेन के लिए चुनाव लड़ा था। इसमें भारत और अफगानिस्तान ने 54 सदस्यों के साथ मतदान में जीत हासिल की, जबकि चीन को करारी हार का सामना करना पड़ा है। इसे भारत की लैंगिक समानता और महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने की नीति की प्रतिबद्धता को एक महत्वपूर्ण समर्थन माना जा रहा है। उल्लेखनीय है कि इस साल प्रसिद्ध बीजिंग वर्ल्ड कॉन्फ्रेंस की 25वीं सालगिरह मनाई जा रही है और इसी दौरान चीन को करारा झटका भी लगा है। भारत इस आयोग का अगले चार साल तक (2021 से 2025) सदस्य बना रहेगा। इसका मतलब यह कि अगले चार साल तक चीन को इस हार की कसक बनी रहेगी।

कंगना का महाराष्ट्र सरकार पर बड़ा हमला
विवादित फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत ने सुशांत मामले में महाराष्ट्र की उद्धव सरकार पर अपना हमला तेज कर दिया है। उन्होंने कल जारी अपने एक ट्वीट में लिखा है कि अब मैं निश्चित तौर पर कह सकती हूं कि अगर महाराष्ट्र के सीएम देवेन्द्र फडणवीस रहते और मुंबई पुलिस ने अपना काम ठीक से किया होता तो जनता और मीडिया को सुशांत के न्याय के लिए आंदोलन शुरू नहीं करना पड़ता। वहीं मुंबई से रवाना होने से पहले कंगना रनौत ने ट्वीट पर लिखा कि भारी दिल के साथ मुंबई से जा रही हूं, जिस तरह से मैं इन दिनों लगातार आतंकित थी और मेरे काम की जगह के बाद मेरे घर को तोड़ने की कोशिश में लगातार हमले और गालियाँ पड़ीं, मेरे चारों ओर घातक हथियारों के साथ सतर्क सुरक्षा, कहना होगा कि यह पीओके के बराबर ही था। इतना ही नही कंगना रनौत ने एक और ट्वीट कर आदित्य ठाकरे को भी घेरा। कंगना ने लिखा-‘महाराष्ट्र के सीएम की मूल समस्या यह है कि मैंने फिल्म माफिया, एसएसआर के हत्यारों और उनके ड्रग रैकेट का पर्दाफाश किया, जिसके साथ उनके प्यारे बेटे आदित्य ठाकरे हैंगआउट किया करते थे। ज्ञातव्य है कि बीते कई दिनों से जारी तनाव के बाद कंगना रनौत कल सुबह मुंबई से हिमाचल में मनाली स्थित अपने घर पहुंची। उनके साथ उनकी बहन रंगोली चंदेल और उनका एक सहयोगी भी था।

कोरोना से उबरने वालों में भारत नंबर वन
यह एक राहत देने वाली और दिलों को शांति प्रदान करने वाली महत्वपूर्ण खबर है कि कोरोना से स्वस्थ हो चुके लोगों के मामले में भारत पहली पायदान पर पहुंच गया है। जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार, भारत में 37 लाख 80 हजार से ज्यादा लोग महामारी से उबर चुके हैं। भारत ने इस मामले में ब्राजील को पीछे छोड़ा है। दुनिया में महामारी से स्वस्थ हो चुके मरीजों की तादाद 1.9 करोड़ के करीब है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि भारत में स्वस्थ मरीजों की दर (रिकवरी रेट) भी 78 फीसदी पर पहुंच गई है। भारत में सोमवार को 92,701 मरीजों के मिलने के साथ कुल मामले 48 लाख 46 हजार 427 तक पहुंच गए। इनमें से सक्रिय मरीज नौ लाख 86 हजार 598 हैं। देश में 1136 मौतों के साथ कोरोना से जान गंवाने वालों की तादाद 79,722 पहुंच गई है। देश में स्वस्थ मरीजों के मामले में पांच शीर्ष राज्यों की बात करें तो महाराष्ट्र में कोविड के सर्वाधिक मामलों के साथ सबसे ज्यादा स्वस्थ व्यक्ति भी हैं, लेकिन 69.79 फीसदी के साथ वह रिकवरी रेट में इनमें सबसे पीछे है। महाराष्ट्र में 10,60,308 मरीज हैं, जिसमें 7,40,061 स्वस्थ हो चुके हैं। यूपी में रिकवरी रेट 76.74%, आंध्र प्रदेश में 82.36%, तमिलनाडु में 88.98%, कर्नाटक में 76.82% है।

किसान का बेटा होगा जापान का पीएम
जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे का स्थान लेने के लिए जिनका नाम सामने आया है वह एक किसान का बेटा है और शिंजो का करीबी भी बताया जाता है। शिंजो के इस्तीफे के बाद सत्ताधारी लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी ने योशिहिडे सुगा को नया पीएम चुन लिया। मतदान में पार्टी के कुल 534 सदस्यों ने हिस्सा लिया जिसमें सुगा को सत्तर फीसदी वोट मिले। सुगा आठ साल तक देश के चीफ कैबिनेट सेक्रेट्री रहे हैं।

Related Articles