मोदी पर विवादित बयान, पूर्व विधायक पर एफआईआर

प्रणव बजाज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मारने वाला बम कब बनेगा ? यह पूछने वाले गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के पूर्व विधायक रामगुलाम उइके पर सिवनी पुलिस ने एफआईआर दर्ज करके तलाश शुरू कर दी है। दरअसल उइके ने सिवनी के ग्राम धनौरा में हाल ही में एक सभा में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और राजीव गांधी को मारने को लेकर टिप्पणी करते हुए पूछा था कि मोदी को मारने वाला बम कब बनेगा ? उइके का यह वीडियो वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया। आक्रोशित स्थानीय भाजपा नेताओं ने इसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक को शिकायत की थी। इसके बाद पूर्व विधायक के खिलाफ भड़काने वाली धारा 153 ए और बिना परमिशन कोरोना काल में भीड़ जुटाकर सभा करने पर धारा 188 में एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

नरोत्तम-सज्जन आमने-सामने
उपचुनावों की तैयारियों के बीच बीजेपी-कांग्रेस नेताओं में वार पलटवार का दौर जारी है। सरकार में गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा है कि कांग्रेस नेताओं को शिवराज सिंह को कोसने के बजाय अपने 15 महीने के सरकार के कामकाज की बात करनी चाहिए। उन्हें जनता को बताना चाहिए कि पिछले चुनाव में किए गए वादे क्यों वह पूरे नहीं कर पाए। उपचुनाव सामने आने पर संकल्प पत्र के नाम पर कांग्रेस फिर से वही बातें दोहरा रही है। जनता उनकी असलियत जान चुकी है। वहीं सज्जन सिंह वर्मा ने पलटवार करते हुए कहा कि कमलनाथ ने 15 महीने में इतना काम किया कि भाजपा के 15 सालों की पोल खुल गई है। ‘नौटंकी मामा’ अब प्रदेश की जनता से सहानुभूति की राजनीति कर रहे हैं। प्रदेश की जनता सब जानती है, शिवराज टेंपरेरी सीएम है।

भूपेंद्र सिंह की अनूठी पहल चर्चा में
प्रदेश सरकार के नगरीय आवास एवं विकास मंत्री और प्रदेश चुनाव प्रबंधन समिति के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह की कार्यशैली सबसे अलग है। वे साइलेंट मोड में रहकर बेहतर काम को अंजाम देते है। हाल ही में उन्होंने उपचुनाव वाली सभी 28 विधानसभा सीटों पर प्रचार प्रसार और वरिष्ठ नेताओं की सभाओं का सीधा प्रसारण दिखाने वीडियो रथ चलाए जाने की योजना तैयार की है। यह रथ मंच-माइक का काम करेंगे और इनसे कहीं भी नुक्कड़ सभाएं की जा सकेंगी। इन रथों से दिल्ली, भोपाल से बड़े नेताओं की सभा का सीधा प्रसारण भी दिखाया जाएगा। बता दें कि भूपेंद्र सिंह ने सोशल मीडिया पर प्रचार प्रसार के लिए एक टीम भी तैयार की है, जो हर समय चौकस रहकर मोर्चा संभालेगी। इसके अलावा गांव-गांव में दस्तक देने यह वीडियो रथ जाएंगे। भाजपा में सिंह द्वारा पहली बार किए जा रहे इस प्रयोग की चर्चा दिल्ली तक है। इनसे दिल्ली से राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भोपाल से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित अन्य वरिष्ठ नेता एक साथ जुड़कर इन वर्चुअल मीटिंग के जरिए सभाओं को संबोधित करेंगे। जिसका सीधा प्रसारण चुनाव वाले क्षेत्रों में कराया जाएगा।

लैपटॉप खरीदी से पहले ही सवाल खड़े हुए
प्रदेश सरकार को हाल ही में 19 हजार पटवारियों को लैपटॉप देने की योजना को कुछ दिनों पहले ही कैबिनेट से मंजूरी मिली थी। इसके बाद राजस्व विभाग ने 29 सितंबर को लैपटॉप खरीदी के आदेश भी जारी कर दिए। लेकिन इस खरीदी पर सवाल खड़े हो रहे हैं कि आदेश के अनुसार में छठवें जनरेशन के प्रोसेसर वाला खरीदी लैपटॉप ही मान्य होगा। जिसकी अनुमानित कीमत सिर्फ बीस हजार रुपए है। जबकि सरकार इसे पचास हजार रुपए में खरीदेगी। बता दें, कि इस जनरेशन के लैपटॉप वर्ष 2012 में बनते थे। इसमें कहा गया है जो अब बंद हो चुके हैं। दिलचस्प है, कि 8 साल पुराने लैपटॉप की देखरेख भी 7 साल तय की गई है। यानी लैपटॉप वर्ष 2020 में जाएंगे और उनकी उम्र 7 साल तक वैध रहेगी।

Related Articles