ऑफ द रिकॉर्ड/चीन की हताशा, भारतीय वैक्सीन का फार्मूला चुराने का प्रयास

– नगीन बारकिया

China's desperation, attempts to steal Indian vaccine formula

चीन की हताशा, भारतीय वैक्सीन का फार्मूला चुराने का प्रयास
खबर यह है कि भारतीय वैक्सीन की सफलता से परेशान चीन समर्थित हैकरों के एक समूह ने अब टीके का फॉर्मूला चुराने की कोशिश की है। साइबर इंटेलिजेंस फर्म साइफर्मा के हवाले से रायटर्स ने यह जानकारी दी है। बताया गया है कि चीन के सरकारी हैकरों के समूह ने हाल के दिनों में दो भारतीय वैक्सीन निमार्ता कंपनियों के आईटी सिस्टम को टारगेट किया है। इस विषय पर फिलहाल चीन की ओर से कोई बयान नहीं आया है। अनुमान लगाया जाता है कि इसका इरादा भारत की कोरोना वैक्सीन सप्लाई चेन को बाधित करने का हो सकता है। साफ है कि इन दो कंपनियों में भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ही हैं जिनकी आईटी सिक्योरिटी में सेंध लगाने की कोशिश की गई। सिंगापुर और टोक्यो में स्थित साइबर इंटेलिजेंस फर्म साइफर्मा ने बताया कि चीनी हैकर्स स्टोन पांडा ने इन कंपनियों के आईटी इन्फ्रास्ट्रक्चर और सप्लाई चेन साफ्टवेयर की कमजोरियों का पता लगाने की कोशिश की थी। उल्लेखनीय है कि भारत और चीन दोनों ही देश अलग-अलग देशों को कोरोना वैक्सीन उपलब्ध करवा रहे हैं और भारत दुनियाभर में बिकने वाले सभी वैक्सीन का 60 फीसदी से अधिक उत्पादन करता है।

प्रशांत किशोर अब अमरिंदरसिंह से जुड़े
भारतीय राजनीति में चुनाववी रणनीतिकार के रूप में पहचाने जाने वाले पीके याने प्रशांत किशोर अब पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ हो गए हैं। बताया गया है कि पीके को कैप्टन ने सोमवार अपना प्रिंसिपल एडवाइजर नियुक्त किया। यह नियुक्ति पंजाब में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर की गई है। जानकारी यह है कि पीके को पंजाब सरकार ने कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया है। कैप्टन ने यह जानकारी अपने ट्वीटर पर भी डाली है जिसमें उन्होंने लिखा है कि – यह बताते हुए बेहद खुशी हो रही है कि प्रशांत किशोर ने मेरे प्रधान सलाहकार के तौर पर ज्वाइन किया है। पंजाब के लोगों की भलाई के लिए एक साथ काम करने को तत्पर हूं। प्रशांत किशोर इससे पहले 2017 के पंजाब चुनाव में भी कांग्रेस के लिए चुनावी रणनीति बनाने का काम देख चुके हैं जिसमें कांग्रेस ने 117 सीटों में से 77 सीटों पर जीत पाई थी।

अब अखिलेश ने भी ममता को टेका लगाया
बंगाल विधानसभा चुनाव में राजनेता पल पल अपनी रणनीति बदलने को मजबूर हो रहे हैं। लगातार वे अपने तालमेल की नीति पर समीक्षा कर रहे हैं और अपने ही फैसलों को कभी लागू करते हैं तो कभी वापस ले लेते हैं। ताजा उदाहरण सपा नेता अखिलेश यादव का है जिन्होंने अब ममता बनर्जी को समर्थन देने का फैसला किया है जो पूर्व में सपा को मैदान में उतारने की घोषणा कर चुके थे। इससे पहले राजद नेता तेजस्वी यादव भी ऐसा ही फैसला ले चुके हैं। अखिलेश यादव ने इस बाबत आज टीएमसी सुप्रीमो को फोन कर जानकारी दी। बताया जा रहा है कि सपा पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेगी।

अब सीएनजी भी हुई महंगी
पेट्रोल, डीजल और एलपीजी गैस के बाद अब सीएनजी भी महंगी हो गई है। यह फैसला आज सुबह छह बजे से लागू हो गया। दिल्ली में सीएनजी अब आपको 42.70 रुपए की जगह 43.40 रुपए प्रति किलो मिलेगी। वहीं, पीएनजी की कीमत 28.41 रुपए मिलेगी। उल्लेखनीय है कि पीएनजी की कीमत में 0.91 रुपए की बढ़ोतरी हुई है।

Related Articles