कमलनाथ के हाल के दो बयानों से दुविधा में कांग्रेसी

प्रणव बजाज

पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा पिछले एक माह में दिए गए दो विरोधाभाषी बयानों की चर्चा सियासी गलियारों में जमकर हो रही है। यही नहीं उनके इन दोनों ही बयानों ने कांग्रेस के नेताओं को दुविधा में डाल दिया है। दरअसल उन्होंने छिंदवाड़ा में पहले कहा था कि अब राजनीति से सन्यास लेकर आराम करूंगा और कुछ दिन बाद ही भोपाल में कहा कि मैं कहीं नहीं जा रहा मप्र में ही रहूंगा। इसको लेकर नेताओं में असमंजस बना हुआ है। बता दें कि 15 साल बाद मिली सत्ता के यूं अचानक हाथ से फिसल जाने के से कांग्रेसी नेता अभी हैरत की स्थिति में है। वहीं 28 सीटों के उपचुनाव ने जो उम्मीदें बांधी थी वह भी स्थिति के उलट ही रही हैं। ऐसे में पार्टी के अंदर अंतर्कलह का तेज होना स्वाभाविक है। हाल के ऐसे कई उदाहरण हैं जब पार्टी नेताओं ने अपनी दुविधा को उजागर किया है।

स्वच्छ गृह अभियान से जुड़ेंगे स्व-सहायता समूह
प्रदेश में स्वच्छता मिशन के दूसरे चरण में अब गांवों को भी शहरों की तर्ज पर ही साफ सुथरा बनाने की योजना तैयार की गई है। इसके तहत प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने गुना जिले के बमोरी में स्वच्छता ग्रह अभियान की शुरुआत की। यह पंचवर्षीय योजना होगी। जिसके तहत गांव को स्वच्छ बनाना बनाया जाना है। योजना के तहत लोगों में ऐसी आदत डालना की जिससे कचरा कम पैदा हो। इसके बाद यह भी जागरूकता लाई जाएगी कि घरों से निकलने वाले कचरे को घरों के बाहर नालियों या सड़क पर नहीं फेंकना बल्कि गीला, सूखा कचरा अलग अलग रखना है। इसके बाद पंचायत कचरे को एकत्रित कर, निस्तारण कर जैविक खाद का निर्माण करेगी। इस योजना में विशेष बात यह है कि इस कार्य से स्व-सहायता समूहों को जोड़ा जाएगा ताकि उनकी आर्थिक उन्नति हो सके।

प्रतिभाओं को आगे लाने आईएएस प्रीति मैथिल ने निभाई भूमिका
आईएएस प्रीति मैथिल नायक युवाओं को आगे लाने के प्रयास काफी समय से करती रही हैं। सागर कलेक्टर रहते उन्होंने ‘प्रयास’ नाम से मुफ्त सरकारी कोचिंग प्रारंभ की थी। कोचिंग क्लास में प्रवेश के लिए दो दिन में ही दो हजार युवाओं ने आवेदन किए थे। यूपीएससी, पीएससी, रेलवे और बैंक आदि की तैयारियां शुरू करना उन्होंने प्रारंभ किया था। वे खुद सप्ताह में दो बार क्लास लेती थी। उन्होंने इसकी शुरुआत इसलिए भी की क्योंकि प्रतिभाओं को कई बार उचित मार्गदर्शन नहीं मिल पाता है, इस वजह से वे आगे नहीं बढ़ पाते हैं। सागर में उनके द्वारा युवाओं को दिए गए मार्गदर्शन और कोचिंग देने से पीएससी में करीब 40 बच्चों ने प्री निकाली है।

अब राजस्व विभाग मोबाइल पर देगा चाही जानकारी
प्रदेश की शिवराज सरकार एक के बाद एक योजनाओं को लागू कर सरलीकरण और सुविधाओं में बढ़ोतरी के प्रयास कर रही है। अब राजस्व विभाग ने भी ऐसी ही एक योजना शुरू की है जिससे लोगों को दफ्तरों के चक्कर नहीं लगाने होंगे बल्कि उन्हें घर बैठे ही जानकारी प्राप्त होगी। दरअसल इस सुविधा के लागू हो जाने से अब जमीन के नक्शे, खसरा, खतौनी, राजस्व न्यायालयों के ऑर्डर की कॉपी के लिए लोगों को एमपी ऑनलाइन या लोक सेवा केंद्र के दफ्तर जाने की जरूरत नहीं होगी। राजस्व विभाग के प्रमुख सचिव मनीष रस्तोगी के अनुसार यह सभी सुविधाएं अब लोगों को घर बैठे उनके व्हाट्सएप मोबाइल नंबर पर ही उपलब्ध हो जाएंगीं। अगले एक महीने के भीतर यह सुविधा पूरे प्रदेश में प्रारंभ हो जाएगी। अभी तक आम नागरिकों को खसरे की नकल, खतौनी की नकल, जमीन के नक्शे, आरसीएमएस से जारी होने वाले ऑर्डर, भू अभिलेख का रिकॉर्ड लेने के लिए राजस्व न्यायालय व अन्य दफ्तरों के चक्कर लगाने पड़ते थे। अब इस सुविधा के शुरू हो जाने से आम लोगों को आसानी से घर बैठे मोबाइल पर ही कई जानकारियां मिलने लगेंगीं।

Related Articles