इस देश में एक दिन में बदल गए थे तीन राष्ट्रपति, अब धीरे-धीरे धंस रही धरती

नई दिल्ली, बिच्छू डॉट कॉम।

दुनिया के इतिहास में तमाम ऐसी घटनाएं दर्ज हैं, जो हर किसी को हैरान कर देती हैं। ऐसी ही एक घटना इतिहास के पन्नों में दर्ज है जिसमें एक देश में मात्र एक घंटें के अंदर तीन राष्ट्रपति बने थे। ये घटना 107 साल पहले घटी थी। जब मेक्सिको में एक घंटे में एक दो नहीं बल्कि तीन राष्ट्रपति बने थे। जिसे जानकर हर कोई हैरान रह गया था। दुनिया का 14वां सबसे बड़ा राष्ट्र मेक्सिको अपनी खूबसूरती के लिए भी प्रसिद्ध है। उत्तर अमेरिकी देश मेक्सिको एक संघीय संवैधानिक गणतंत्र है। यह संयुक्त राज्य अमेरिका की दक्षिणी सीमा से लगा हुआ है। दक्षिण प्रशांत महासागर इसके पश्चिम में, ग्वाटेमाला, बेलीज और कैरेबियन सागर इसके दक्षिण में और मेक्सिको की खाड़ी इसके पूर्व की ओर हैं। बता दें कि मेक्सिको लगभग 2 मिलियन वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ हैं, मेक्सिको अमेरिका में पांचवां और दुनिया में 14 वां सबसे बड़ा स्वतंत्र राष्ट्र है। यहां करीब 11 करोड़ लोग रहते हैं। जो दुनिया का 11वां सबसे अधिक आबादी वाला देश है। मेक्सिको 31 राज्यों और एक संघीय जिला वाला देश है। जिसमें राजधानी मेक्सिको सिटी जो एक फेडरेशन है भी शामिल है। बता दें कि मेक्सिको में एक घंटे में तीन राष्ट्रपति बनने की घटना साल 1913 में घटी थी। उस समय मेक्सिको के राष्ट्रपति फ्रांसिस्को आई मैडेरो थे, लेकिन उन्होंने कुछ वजहों के चलते अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उनके इस्तीफा देने के तुरंत बाद पेड्रो लस्कुरिन ने राष्ट्रपति पद संभाल लिया, लेकिन पेड्रो ने कुछ ही मिनटों बाद अपना पद छोड़ दिया और इस्तीफा दे दिया। इससे पूरी दुनिया हैरान रह गई। उसके बाद विक्टोरियानो हुएर्टा ने राष्ट्रपति पद की जिम्मेदारी संभाली। बता दें कि पेड्रो लस्कुरिन ने केवल 26 मिनट के लिए राष्ट्रपति का कार्यभार संभाला था। यह एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है। यह हैरान कर देनी वाली घटना इतिहास के पन्नों में हमेशा-हमेशा के लिए दर्ज हो गई। मेक्सिको की राजधानी मेक्सिको सिटी है जो धरती में धंसती जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एज्टेक सिटी के ऊपर बसा यह खूबसूरत शहर हर साल 6 से 9 इंच तक जमीन में धंस जाता है। इसकी वजह से जमीन के नीचे पानी का स्तर तेजी से गिरता जा रहा है। इस कारण से यहां की इमारतें जमीन में धीरे-धीरे धंसती जा रही हैं।

Related Articles