विदुर की ये नीतियां जीवन को बनाती हैं आसान

These policies of Vidur make life easier

बिच्छू डॉट कॉम। विदुर नीति में जीवन के कई पहलुओं का जिक्र किया है। कहते हैं कि विदुर जी महाभारत काल के बुद्धिजीवियों में से एक थे। यही कारण है कि भगवान श्रीकृष्ण भी उनसे बातें साझा करना और सलाह लेना पसंद करते थे। राजा धृतराष्ट्र भी हर कार्य करने से पहले विदुर जी सलाह लेते थे। कहते हैं कि जो व्यक्ति विदुर जी की नीतियों को जीवन में अपनाता है वह कभी दुखी नहीं रहता है। जानिए ऐसी विदुर नीतियों के बारे में, जिन्हें हर व्यक्ति को जीवन में करना चाहिए अमल….

  • विदुर जी के अनुसार, धर्म का रास्ता ही परमकल्याणकारी होता है। केवल क्षमा ही शांति का सबसे अच्छा उपाय है। केवल ज्ञान ही परम संतोषकारी है और केवल अहिंसा ही सुख प्रदान करने वाली है।
  • विदुर नीति के अनुसार, जिस तरह से घास-फूस में लगी आग अपने आप बुझ जाती है, उसी तरह से क्षमाहीन व्यक्ति अपने साथ-साथ दूसरों के भी दोष का भागी बना लेता है।
  • विदुर जी कहते हैं जो व्यक्ति शक्तिशाली होने पर भी क्षमाशाली और निर्धन होने पर भी दानशील होते हैं। ऐसे लोगों को स्वर्ग से भी बेहतर स्थान प्राप्त होता है।
  • विदुर नीति के अनुसार, जो धनवान होने पर भी दानशील न हो। गरीब होने पर दुख सहने की शक्ति न हो। ऐसे लोगों का साथ कभी नहीं करना चाहिए।
  • विदुर जी कहते हैं जो व्यक्ति किसी से भी कटु वचनों से बात नहीं करता है। गलत काम करने वालों का साथ नहीं करता है, वही व्यक्ति संसार में आदर सम्मान प्राप्त करता है।

Related Articles