फल के छिलके भूलकर भी कूडेदान में न फेकें

Do not forget to peel the fruit and peel it.

बिच्छू डॉट कॉम।  वास्तुशास्त्र का अर्थ होता है कि घर में आने वाली चारों दिशाओं से मिलने वाली ऊर्जा तरंगों का संतुलन बनाए रखना। जिससे घर में सुख-समृद्धि बनी रहें। वास्तुशास्त्र में कुछ ऐसे उपाय बताए गए हैं। जिनको अपनाकर अपने घर को वास्तुदोष से बचा सकते है।

  • बड़े बुजुर्ग कहते है कि फल रोज खाना चाहिए। यह स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छे माने जाते हैं लेकिन वास्तु के मुताबिक उसके छिलके कूडेदान में नहीं डालने चाहिए। बल्कि इसकों बाहर फेकें। ऐसा करने से आपको मित्रों से लाभ होगा और आपका दोस्ती का रिश्ता मजबूत होगा।
  • माह में एक बार किसी भी दिन घर में मिश्री युक्त खीर जरुर बनाकर परिवार सहित एक साथ खाएं अर्थात जब पूरा परिवार घर में इकट्ठा हो उसी समय खीर खाएं। ऐसा करने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का आगमन होता है।
  • मुख्य द्वार के पास कभी भी कूड़ादान ना रखें, इससे पड़ोसी शत्रु हो जाऐंगे।
  • सूर्यास्त के समय किसी को भी दूध, दही या प्याज मांगने पर ना दें, इससे घर की बरक्कत समाप्त हो जाती है।
  • छत पर कभी भी अनाज या बिस्तर ना धोएं, इससे ससुराल से सम्बन्ध खराब होने लगते हैं।

Related Articles