इस आसान उपाय से बच्चे को नहीं आयेंगे डरावने सपने

Children will not have scary dreams with this simple solution

मां गंगा के पवित्र जल का प्रयोगमनुष्य के जन्म से लेकर मृत्यु तक होता है। यह पवित्र जल किसी चमत्कार से कम नहीं। हर मांगलिक कार्य या पूजा पाठ में गंगाजल का प्रयोग तो होता ही है, घर की शुद्धि में भी इसका विशेष महत्व है। आइये जानते हैं गंगाजल से जुड़ी आवश्यक बातें…..

भगवान शिव शंकर, गंगाजल अर्पित करने से प्रसन्न होते हैं। घर में सबसे पवित्र जगह पर ही गंगाजल को रखें। गंगाजल को कभी गंदे हाथों से नहीं छूना चाहिए। गंगाजल के प्रभाव से सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। इसे अंधेरे कोने में कभी न रखें। घर से नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने के लिए प्रत्येक दिन गंगाजल का छिड़काव करें। घर में मौजूद वास्तुदोष भी नियमित गंगाजल के छिड़काव से दूर हो जाते हैं।

बच्चों को अगर डरवाने सपने आते हों तो सोने से पहले बिस्तर पर गंगाजल का छिड़काव करें। गंगाजल को हमेशा पूजा स्थल और किचन में रखें। प्लास्टिक की बोतल में गंगाजल रखने से इसकी पवित्रता भंग हो जाती है। वैसे भी प्लास्टिक जल प्रदूषण का बड़ा कारण है। गंगाजल को चांदी, तांबे या पीतल के पात्र में ही रखें। जहां भी गंगाजल रखें, वहां की साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें। अगर कमरे में गंगाजल रखा है तो वहां कभी मांस-मदिरा का सेवन न करें। 

Related Articles